UPSC Exam Preparation After 12th In Hindi : जाने UPSC की तैयारी कब करे? और कैसे मिलेगी सफलता।

UPSC Exam Preparation After 12th In Hindi : देश के पुर्व राष्ट्रपति एपी जे अब्दुल कलाम कहते थे कि सपने वो नही होता जो सोते हुए देखते है। सपने वो होता जो आपको सोने ना दे। इस देश के लाखो ऐसे युवा है जो कि 10 वी बाद ये सपना देखते है कि संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) सिविल सेवा परीक्षा पास हो। आज हम आपको इस लेख बताए गे कि (UPSC) तैयारी करने का सही समय कब आएगा। दोस्तों एक बात सदा याद रखे गी कि सपने उसी के सच होते जो इसे पुर्ण करने के लिए हरट कीमत चुकाने के लिए तैयार रहता है। ऐसा ही एक सपना है IA’s बनने का। IA’s बनने के लिए संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) सिविल सेवा परीक्षा का आयोजन करता है। UPSC हमारे देश की सबसे कठीन व प्रतिष्ठित परीक्षा है। हर साल लाखों युवा महज कुछ सीटों के लिए इस एग्जाम की तैयारी करते है। इस एग्जाम में सफलता का प्रतिशत बहुत ही कम है। इस एग्जाम में वही सफल होता है जिसमें शैक्षणिक योग्यता के साथ ही अनुशासन और धैर्य हो। अगर आप भी IAS बनने का सपना देखते है तो इसके लिए जरूरी है कि इसकी तैयारी स्नातक स्तर पर ही शुरू कर दें। सिविल सेवा में सफलता पाने के लिए एक सटीक रणनीति और व्यवस्था होना अवश्यकता है।

shashiblog.in

(1) current affairs की ऐसे करें तैयारी-

समसामयिक विषयों (current affairs) की तैयारी करने के लिए आप रोजाना रूप से समाचार पत्रों का अध्ययन करें। जैसे कि दैनिक जागरण , द हिंदू, इंडियन एक्सप्रेस के अलावा बीबीसी और डीडी न्यूज का बुलेटिन जरूर देखे। पिछले साल के प्रारंभिक प्रश्न पत्रों में भी समसामयिक (current affairs) मुद्दों से संबंधित प्रश्नों का अच्छा अनुपात रहा है। इसलिए ये जरूरी है कि समसामयिक मुद्दों (current affairs) की तैयारी करते रहना चाहिए। इसके अलावा आप समसामयिक मुद्दों (current affairs) के लिए पुस्तको का भी सहारा लें सकते है। उसके लिए आप चाहे तो NCERT और NIOS की किताबों को पढ़ सकते है ये किताबें आनलाईन नि:शुल्क उपलब्ध है।

(2) रणनीति और अध्ययन सामग्री

सिविल सेवा परीक्षा (UPSC) के लिए सबसे पहले आपको अपनी 12वीं की पढ़ाई को पुर्ण करना पड़ेगा। डिसिजन लें लेना चाहिए कि आपको सिविल सेवा में जाना है। सिविल सेवा की तैयारी के लिए कम से कम 2 से 3 वर्ष का समय लगता है। आप अपने ग्रेजुएशन के दिनों से ही इसकी तैयारी शुरू कर दे। इस परीक्षा की तैयारी की शुरूआत NCERT की किताबों का अध्ययन करने से करे। इसके अलावा सिविल सेवा परीक्षा (UPSC) का पूरा सिलेबस अपने साथ रखे और उसके मुताबिक ही तैयारी करे। अधिकतर कैंडिडेट अपनी ग्रेजुएशन के किसी एक विषय में से ही परीक्षा के मुख्य चरण के लिए विषय चुनते है। इससे आपको आसानी रहती है क्योंकि आप ग्रेजुएशन के साथ इस विषय को पूरे तीन साल पढ़ते है। इसके अलावा दूसरे चयनित वैकल्पिक विषयों के लिए आप स्टडी मटेरियल का चयन कर सकते है या फिर एक्सपर्ट की एडवाइज ले सकते है।

3 पढ़ाई के लिए जरूरी है एकाग्रता (Concentration is necessary for studies)

सिविल सेवा परीक्षा (UPSC) निकालने के लिए ये अवश्यक है कि आप अपने लक्ष्य के प्रति एकाग्र रहे। क्योंकि सिविल सेवा की परीक्षा कोई बैंकिग या एसएससी की एग्जाम नही है। जिसमें रट्टा मारने से सफलता मिल जाती है। इसलिए इस एग्जाम की तैयारी के लिए आपको त्याग तो करना ही पड़ेगा, इसके बिना आप इस एग्जाम में कुछ नही कर सकते। आपको दो से तीन साल सिविल सेवा (UPSC) के लिए देने ही पड़ेंगे। इन सालों में हर दिन आपको रोजाना पढ़ाई करना पड़ेगा।

what is civil war: क्या भारत बन रही गृहयुद्ध स्थिती और जाने क्या होता गृहयुद्ध।

(4.) पढ़ाई के साथ लेखन का अभ्यास भी है जरूरी(Along with studies, writing practice is also necessary)

आपको पढ़ने के साथ लिखने का भी अभ्यास करना है क्योंकि प्री एग्जाम निकालने के बाद मेंस की परीक्षा देनी पड़ती है। जिसमें आपको लिखना पड़ता है। आप किसी भी टॉपिक पर संक्षेप में लगभग 200 शब्दों में लिखने का प्रयास करें। जितना आप लिखने की प्रयास करोगे उतनी ही आपकी लेखन शैली सुधरेगी और व्याकरण में कम गलती होगी।

(5.) क्या दिल्ली जाना जरूरी है?

आपने भी लोगों से सुना होगा कि UPSC की तैयारी के लिए दिल्ली जाकर कोचिंग करना जरूरी है। लेकिन आपको बता दें कि आप घर रहकर भी सिविल सेवा अर्थात UPSC की तैयारी कर सकते है। बस आपको अपनी जिंदगी में थोड़ा सा परिवर्तन लाना पड़ेगा और आप घर रहकर भी उचित अध्ययन सामग्री से सिविल सेवा अर्थात UPSC की परीक्षा पास कर सकते है। बाहर जाकर पढ़ाई करने के भी अपने ही टेंशन रहते है इसलिए अपने शहर में रहकर भी आप अध्ययन कर सकते है। आप चाहे तो कोई कोचिंग भी ले सकते है या फिर online study कर सकते हैं।

द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय (Draupadi Murmu Biography in Hindi)caste, age, husband

(6.)विषयों का चयन करते समय रखे इन बातों का ख्याल-

सिविल सेवा परीक्षा (UPSC) में सबसे जरूरी होता है कि विषय का अध्ययन इसलिए, विषय का चयन करते समय इस बात ध्यान रखें कि आपको उस विषय में रूचि है या नही। वैसे तो कोई भी विषय अध्ययन के लिए असंभव नही है। लेकिन फिर भी जिस विषय में आपकी रूचि है उसी विषय का चयन करना आपके लिए फायदेमंद रहता है। सिविल सेवा परीक्षा (UPSC) का सिलेबस बहुत बड़ा होने के कारण पूरे साल भर अध्ययन करना पड़ता है। इसलिए योजना के अनुसार ही चलते हुए पूरे साल अध्ययन करना जरूरी है।

(7.) कितना पढ़ना है जरूरी

सिविल सेवा परीक्षा (UPSC) के लिए वैसे तो एक साल बहुत है। लेकिन लोगों को दो से तीन साल भी लग जाते है। ये अलग-अलग लोगों की क्षमता पर निर्भर करता है कि वे कितना अध्ययन कर सकते है। इसलिए हर दिन कम से कम 6 घंटे पढ़ाई करना जरूरी है। कई बार ऐसा होता है कि आप तैयारी करते-करते डिमोटिवेट हो जाते है इसलिए मोटिवेशनल किताबों को पढ़े। आपके आस-पास कैसे लोग रहते है इसका आपकी लाइफ पर काफी असर पड़ता है। अगर आपके आसपास नकारात्मक लोग रहते है तो ऐसे लोगों से जितना हो सके दूर रहने का कोशिश करे। ऐसे लोगों के साथ रहे जो आपको अच्छा फील करवाते है।

8. प्लान बी तैयार रखें

लाखों उम्मीदवार UPSC एग्जाम की तैयारी करते हैं, लेकिन इसमें सभी सफल नहीं हो पाते हैं। ऐसे में यदि आप एग्जाम में पास नहीं हो पाते हैं तो आपको प्लान बी तैयार रखना चाहिए। UPSC की तैयारी के समय अपने विश्व इतिहास, राजनीति, भूगोल, अर्थव्यवस्था, नैतिक सिद्धांतों, विभिन्न दार्शनिकों और क्रांतिकारियों को पढ़ा होगा। यह विषय आपके भविष्य के लिए
फायदे मन होंगे । जीवन के प्रति सकारात्मक सोच रखिए और उद्देश्य की स्पष्टता होना आपको सदा एक अच्छा लाइफ जीने के लिए प्रेरित करेगा।

Leave a Reply

Infinix Zero 5G Goes Official in India as the Brand’s First 5G Phone: Price, Specifications Happy Hug Day 2022: Wishes, Messages, Quotes, Images, Facebook & WhatsApp status IPL Auction 2022 Latest Updates Happy New Year Wishes 2022 Happy New Year Wishes 2022 Happy New Year 2022 Wishes Omicron Variant: अमेरिका में ओमिक्रॉन वैरिएंट का पहला मामला