super power india :भारत बनेंगा विश्व गुरु ,प्रधानमंत्री मोदी बनेंगे शांति दूत।। अब पुरी दुनिया कह रही मोदीजी बचा लो।

super power india : अभी पिछले दिनों सारी दुनिया ने रूस और यूक्रेन का खतरनाक युद्ध देखा, उससे पहले अर्मेनिया और अज़रबेजान में भी जंग छिड़ गई थी और इज़राईल-फलस्तीन के बीच की झड़प तो किसी से छिपी नहीं है। इधर चीन ताईवान पर घात लगाए बैठा है और पाकिस्तान अपने नापाक इरादे दिखा कर भारत को जब तब युद्ध के लिए उकसाता रहता है।

super power india :

super power india
shashiblog

मोदी राज में भारत को अघोषित हिंदू राष्ट्र बन गया ।

भारत एक शांति की जोत बनकर चमकने को तैयार

super power india
shashiblog

चारों तरफ फैली इस अशांति के बीच भारत एक शांति की जोत बनकर चमकने को तैयार है। विश्व शांति को स्थापित करने के लिए मेक्सिको के राष्ट्रपति एंड्रेस मैनुअल लोपेज ओब्रेडोर ने यूएन के सामने एक प्रस्ताव रखा है। दरअसल एक पत्र के द्वारा एंड्रेस मैनुअल लोपेज ओब्रेडोर ने अपील की है कि वर्तमान स्थिति को देखते हुए शांति स्थापित करने के लिए तीन सदस्यों की एक कमेटी बनानी चाहिए।इस कमेटी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पोप फ्रांसिस और संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनिया गुटेरेस को सदस्य बनाया जाए। उन्होंनें खासतौर पर नरेंद्र मोदी का नाम इसीलिए लिया है क्योंकि वो जानते हैं कि भारत एक शांतिप्रिय देश है और दुनिया का विश्व गुरू बनने की काबीलियत रखने वाले इस देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी एक ऐसी हस्ती हैं जिनका पूरे दुनिया में सम्मान किया जाता है।

super power india :

इन तीनों की अगुवाई में जो कमेटी बनायी

इन तीनों की अगुवाई में जो कमेटी बनायी जाएगी, वो पूरी दुनिया की शांति के लिए काम करेगी। कहीं भी युद्ध होने की स्थिति में यह कमेटी बातचीत से मामले को सुलझाने की कोशिश करेगी।

super power india :

इसके अलावा इस कमेटी का काम ये होगा कि आने वाले पांच सालों तक किन्हीं भी दो देशों के बीच किसी भी तरह का युद्ध ना हो और पूर्ण शांति बने रहे। मेक्सिको के राष्ट्रपति ने जानकारी दी है कि वे अपना ये प्रस्ताव यूएन के सामने लेकर जाएंगे। उन्हें पूरी उम्मीद है कि दुनिया का हर देश उनके इस प्रस्ताव को मंजूर कर देगा।

super power india :

ऐसा नहीं है कि हम आंखें बंद करके भारत की तरफदारी

और ऐसा नहीं है कि हम आंखें बंद करके भारत की तरफदारी कर रहे हैं। भारत ने पिछले कुछ समय में ऐसे काम किए हैं जिससे भारत को विश्व गुरु और नरेंद्र मोदी को शांति दूत कहा जाना कुछ गलत नहीं है। रूस और यूक्रेन के युद्ध के दौरान हर देश रूस या यूक्रेन किसी एक का पक्ष ले रहा था पर भारत ने किसी का पक्ष न लेते हुए शांति की बात कही क्योंकि किसी एक का पक्ष लेना युद्ध में शामिल होने जैसा है। इसके अलावा इतिहास गवाह है कि किसी भी युद्ध की स्थिति में भारत ने अपने नागरिकों को सबसे पहले वहाँ से निकाला है। और सिर्फ अपने नागरिको को नहीं बल्कि अपने पड़ोसी मुल्क जैसे पाकिस्तान और बांग्लादेश के नागरिको को भी बचाया है।

super power india :

तो आपकी इस मामले में क्या राय है? कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताएं और वीडियो को लाइक करना बिल्कुल ना भूलें

Leave a Reply

Infinix Zero 5G Goes Official in India as the Brand’s First 5G Phone: Price, Specifications Happy Hug Day 2022: Wishes, Messages, Quotes, Images, Facebook & WhatsApp status IPL Auction 2022 Latest Updates Happy New Year Wishes 2022 Happy New Year Wishes 2022 Happy New Year 2022 Wishes Omicron Variant: अमेरिका में ओमिक्रॉन वैरिएंट का पहला मामला