RRB NTPC Scam: बिहार में नितीश कुमार का तानाशाली छात्रो पर किया लाठीचार्ज , जाने क्यों कर रहे छात्र आंदोलन और उनके मांगे

आज के इस लेख में RRB और NTPC एग्जाम पैटर्न में बदलाव और रिजल्ट में धांधली का आरोप लगाते हुए परीक्षार्थियों का प्रदर्शन लगातार ही जारी है। हम इस लेख आपको बताए गे कि परीक्षार्थियों के डिमांड क्या थी। क्या उनके ये मांगे जायज है।

RRB NTPC Scam

RRB NTPC Scam

बिहार में परीक्षार्थियों किया लाठीचार्ज

लेकिन उस पहले हम आपको बताए गे कि बिहार के सुशासन वाली सरकार कैसे परीक्षार्थियों पर लाठीचार्ज किया। आपको बताते चले कि बिहार वही धरती जहाँ जय प्रकाश नारायण के नेतृत्व में छात्र आंदोलन हुआ था। उस समय बिहार के छात्रो तानाशाली इंदिरा गांधी सबक सिखा दिया था। उन छात्रो में वर्तामान बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार और राजद प्रमुख लालू यादव जैसे अनेक छात्र शामिल थे। अब आते है आज की परिस्थिती पर वर्तमान बिहार में एक बार फिर से छात्र आंदोलन हो रही है । जो कि पटना से निकल कर बिहार के कई जिले में फेल गई जो कई जगहो पर पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसक झड़प हुई।

जाने क्यों कर रहे छात्र आंदोलन और उनके मांगे

रिजल्ट का विरोध कर रहे रेलवे अभ्यर्थियों का कहना है कि CBT 1 के रिजल्ट में कई गलतिया हैं। एक तो सरकार ने विज्ञापन के अनुसार परिणाम नहीं जारी किया। और दूसरी बात ये है कि एक ही छात्र का चयन कई क्षेत्रीय बोर्ड में किया गया है। स्कोरकार्ड और कट-ऑफ तैयार करने में गड़बड़ी की गई है। आपको बता दें कि 35000 से अधिक पदों पर भर्ती के लिए रेलवे ने साल 2019 में NTPC के लिए नोटिफिकेशन जारी किया। टीपीसी के पदों पर बहाली के लिए रेलवे बोर्ड द्वारा 14 जनवरी को परिणामों की घोषणा की गई। लेकिन उम्मीदवारों ने रिजल्ट में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए सोशल मीडिया पर अभियान चलाया। जिसका नतीजा ये रहा कि अगले ही दिन रेल मंत्रालय ने इसे लेकर निम्न बिंदुओं में सफाई दिया है़ लेकिन छात्र इसे स्वीकार करने तैयार नहीं। छात्र बिहार के अलग-अलग स्टेशनों पर रेलवे ट्रैक को जाम कर प्रदर्शन कर रहे हैं। लगातार दूसरे दिन भी हंगामा देखने को मिल रहा है।

RRB NTPC Scam

बताते चले कि रेल मंत्रालय का कहना है कि नोटिफिकेशन के पैराग्राफ 13 के मुताबिक ही रिक्त पदों की संख्या से कुल 20 गुना उम्मीदवारों का चयन किया गया है। जारी रिजल्ट में 7 लाख रोल नंबर चयनित हैं। जो कि 35000 पदों का 20 गुना है। रेल मंत्रालय का कहना है कि यह कभी भी नहीं कहा गया था कि CBT 2 के लिए 7 लाख उम्मीदवारों का चयन किया जाएगा। एक ही उम्मीदवार को पात्रता के आधार पर कई लेवल के लिए चयनित किया जा सकता है।

रेलवे के अभ्यर्थी मंत्रालय की समस्त दलीलों को स्वीकार करने को तैयार नहीं है। उनका कहना है कि सरकार ने Railway Recruitment Board Non-Technical Popular Categories के विज्ञापन के अनुसार 20 % रिजल्ट देने की बात की थी। साथ ही रेलवे के अभ्यर्थी इस बात को लेकर भी हंगामा कर रहे हैं। कि पहले रेलवे ग्रुप D में दो एग्जाम लेने की बात नहीं कही गई थी। लेकिन अब रेलवे भर्ती विज्ञापन में दी गई सूचनाओं से मुकर रहा है। तानाशाही रवैया अपनाते हुए रेलवे ने रेलवे ग्रुप D में दो एग्जाम के आयोजन की बात कह रहा है।

RRB NTPC Scam

आपको बता दें कि 28 दिसंबर 2020 से 31 जुलाई 2021 तक कुल सात चरणों में आयोजित की गई थी। यह 2019 की विज्ञप्ति है, जिसके जरिये 35000 से ज्यादा पदों को भरा जाना है। अभी तक केवल सीबीटी1 परीक्षा का आयोजन किया गया है, इसमें सफलतापूर्वक उत्तीर्ण हुए उम्मीदवार 14 फरवरी, 2022 से चरण 2 यानी RRB NTPC CBT 2 में भाग ले सकेंगे।सीबीटी2 एग्जाम 18 फरवरी, 2022 को समाप्त हो जाएगी। इस आप समझ चुके है कि RRB NTPC का ताजा विवाद किन मु्द्दो पर है।

Leave a Reply

Infinix Zero 5G Goes Official in India as the Brand’s First 5G Phone: Price, Specifications Happy Hug Day 2022: Wishes, Messages, Quotes, Images, Facebook & WhatsApp status IPL Auction 2022 Latest Updates Happy New Year Wishes 2022 Happy New Year Wishes 2022 Happy New Year 2022 Wishes Omicron Variant: अमेरिका में ओमिक्रॉन वैरिएंट का पहला मामला