जानिए कौरवों और पांडवों के नाम | Kaurava and Pandava name in Hindi

जानिए कौरवों और पांडवों के नाम | Kaurava and Pandava name in Hindi

महाभारत की कहानी में सौ कौरव और पांच पांडव थे, वास्तव में 102 कौरव थे, जिनमें एक बहन और एक दासी का एक बेटा था और पांडवों का कर्ण नाम का एक और भाई भी था।

कौरवों के पूर्वज राजा शांतनु थे, जिनका पहला विवाह गंगा से हुआ था, जिनकी संतान देवव्रत थी, जिन्हें भीष्म के नाम से जाना जाता है। शांतनु की दूसरी रानी मत्स्य राज्य की बेटी सत्यवती थी, जिसकी महत्वाकांक्षा के कारण देवव्रत को एक शपथ लेनी पड़ी जिसमें उन्होंने अपनी सौतेली माँ से वादा किया कि वह जीवन भर अविवाहित रहेगा और राज्य के सिंहासन की रक्षा करेगा लेकिन कभी राजा नहीं बनेगा। इस वचन के कारण देवव्रत का नाम भीष्म रखा गया और उन्हें उनके पिता शांतनु द्वारा मृत्यु का वरदान दिया गया, जिसके तहत उन्हें यह स्वीकार करना पड़ा कि जब तक हस्तिनापुर के सिंहासन पर धर्म का शासन नहीं होगा, तब तक वे अपना जीवन नहीं छोड़ सकते। इसलिए भीष्म ने जीवन भर हस्तिनापुर के सिंहासन की रक्षा की।

सत्यवती का एक पुत्र विचित्रवीर्य था, जो अम्बे और अंबालिका से पैदा हुआ था, जिसे भीष्म स्वयंवर से लाए थे। उनके दो पुत्र हुए, धृतराष्ट्र और पांडु। धृतराष्ट्र के पुत्र कौरव थे और पांडु के पुत्र पांडव थे।

धृतराष्ट्र की पत्नी गांधारी थीं, जिनसे उनकी एक और दो संतानें थीं और एक दासी की एक संतान थी। पांडु की दो पत्नियां थीं, एक कुंती और एक माद्री। कुंती के तीन और माद्री के दो पुत्र थे।

Kaurava and Pandava name in Hindi

Name Of Pandava In Hindi

पांडवों के नाम

क्र.पांडवो के नाम
1भीम
2सहदेव
3युधिष्ठिर
4अर्जुन
5नकुल

kaurav name in hindi

कौरवों के नाम

क्र.एक सो दो कौरवो के नाम
1सुखदा (दासी पुत्र)
2दुह्शाला (बहन)
3सुवीर्यवान
4अमाप्रमाथि
5कुण्डाशी
6दृढ़कर्मा
7अभय
8दीर्घबाहु
9वीरबाहु
10युयुत्सु
11प्रधम
12दृढ़रथाश्रय
13अलोलुप
14अनाधृष्य
15कुण्डभेदी
16सुजात
17धनुर्धर
18आदित्यकेतु
19कनकध्वज
20नागदत्त
21सुवर्च
22बह्वाशी
23विरवि
24दुष्पराजय
25कवचि
26क्रथन
27उग्रशायी
28कुण्डी
29भीमविक्र
30दीर्घरोमा
31वातवेग
32सेनानी
33उग्रसेन
34अपराजित
35कुण्डशायी
36दृढ़वर्मा
37विशालाक्ष
38दढ़संघ
39दृढ़क्षत्र
40दुराधर
41दृढ़हस्त
42सुहस्त
43उग्रश्रवा
44विरज
45वृन्दारक
46अनूदर
47बालाकि
48सोमकीर्ति
49चित्रायुध
50जरासंघ
51सत्यसंघ
52उग्रायुध
53बलवर्धन
54सद्सुवाक
55महोदर
56पाशी
57कुण्डधर
58सुषेण
59चित्रबाण
60निषंगी
61भीमवेग
62सुवर्मा
63भीमबल
64अयोबाहु
65दुर्विमोचन
66महाबाहु
67चित्रवर्मा
68चित्रांग
69चित्रकुण्डल
70विवित्सु
71नन्द
72उपनन्द
73विकटानन्द
74दुर्विगाह
75ऊर्णनाभ
76 चित्रकुण्डल
77शरासन
78दुर्मद
79सुनाभ
80दुर्मर्षण
81शल
82चारुचित्र
83चित्राक्ष
84उपचित्र
85दुष्कर्ण
86दुर्मुख
87सत्वान
88विंद
89सुलोचन
90दुषप्रधर्षण
91सह
92चित्र
93सुबाहु
94दुर्धर्ष
95दुःशल
96विकर्ण
97सम
98दुःसह
99अनुविंद
100जलसंघ
101दुःशासन
102दुर्योधन

महाभारत से जुड़ी कई कहानियां हैं, जिन्हें पढ़कर आप अपने ज्ञान को बढ़ा सकते हैं। यह एक बहुत बड़ी पुस्तक है जिसने कलियुग की रचना की है। महर्षि वेदव्यास द्वारा रचित इस महाभारत में धर्म और अधर्म के युद्ध के बीच कलियुग का जन्म बताया गया है। कहते हैं कलियुग को अभी पांच हजार साल ही हुए हैं, कई लाख साल अभी बाकी हैं।

महाभारत से जोड़ी गई अन्य रोचक कहानियां

शकुनि कौरवों का शुभचिंतक नहीं बल्कि उनका विरोधी था।

एक और दो कौरव कैसे पैदा हुए थे? | Kaurava Birth History In Hindi

भीष्म पितामह भीष्म अष्टमी जयंती 2022 | के जीवन का इतिहास

महाभारत के रचयिता वेद व्यास की कहानी

Aaj Kiska Match Hai

Leave a Reply

Infinix Zero 5G Goes Official in India as the Brand’s First 5G Phone: Price, Specifications Happy Hug Day 2022: Wishes, Messages, Quotes, Images, Facebook & WhatsApp status IPL Auction 2022 Latest Updates Happy New Year Wishes 2022 Happy New Year Wishes 2022 Happy New Year 2022 Wishes Omicron Variant: अमेरिका में ओमिक्रॉन वैरिएंट का पहला मामला