Home Trending KabulAirportBlast: काबुल धमाके 100 से ज्यादा के मौत , जाने कैसे अमेरिका...

KabulAirportBlast: काबुल धमाके 100 से ज्यादा के मौत , जाने कैसे अमेरिका के जनता के एक गलत फैसला का कीमत चुका रहा दुनिया

0
134

कल मध्यरात्रि काबुल पर बड़ा आंतकी हमला हुआ है। जिसमें लगातार ही तीन धमाके हुए है। जैसा कि आप जानते हैं कि इस वक्त अफगानिस्तान में कोई सरकार नहीं चल रही है। जिस कारण पहले से सारे खुफिया इनफॉमेशन होने के बाद भी कुछ भी नहीं हो सका।

US President Joe Biden

पिछले बीस सालों में सबसे बड़ा सैन्य नुकसान

अमेरिका का पिछले बीस साल में सबसे बड़ा सैन्य नुकसान हुआ । बताया जा रहा है कि काबुल एयरपोर्ट पर हुए हमले में 100 से अधिक लोगों की जान गई है. जिसमें 15 अमेरिकी सेना के सैनिक हैं।जबकि 90 से अधिक अफगान नागरिक हैं।ये संख्या अभी भी बढ़ सकती है, क्योंकि बड़ी संख्या में गंभीर घायल लोग अस्पतालों में भर्ती कराए गए हैं। इस सब के कोई
जिम्मेदार अमेरिका के वर्तमान राष्ट्रपति जो बाइडन है। जो कि अबतक अमेरिकी इतिहास के सबसे कमजोर और विफल राष्ट्रपति है।

पाकिस्तान के खुफिया एजेंजी ISI रचा हमला की साजिश

जिस तालिबान को सत्ता मिला , उसे बस हमला करने अनुभव है। हमला को विफल करने का नहीं। कहने को ये हमला इस्लामिक स्टेट यानी Isis ने किया है। लेकिन ये सच्चाई किसी छिपी नहीं है। कि ये हमला भी पाकिस्तान ने करवाया है। पाकिस्तानी खुफिया एजेंजी
ISI इशारे पर किया गया है। ऐसा हम नहीं कह रहे बल्कि कि डिफेंस एक्सपर्ट सुशांत सरीन का माना है कि तालिबान के छवि सुधारने के लिए ये हमला की साजिश पाकिस्तान के खुफिया एजेंजी
ISI रचा है ।

अमेरिका के जनता गलत निर्णय का कीमत चुका रहा अमेरिका

अमेरिका के जनता के एक गलत निर्णय किस प्रकार भारी पर गई । उसका उदाहरण है वर्तमान अफगानिस्तान के संकट (afghanistan crisis)है। जरा आप ही सोचिए ये अफगानिस्तान पर पिछले बीस सालों का सबसे बड़ा हमला हुआ । लेकिन जो बाइडन कुछ नहीं कर सके। जो बाइडन ने अमेरिका के छवि को इस कदर खराब किया। जो अमेरिका कलतक स्वयं सुपर पावर कहता था , अब वो कायरो के देश तौर पर जाना जाता है। अगर कहीन दुनिया में एक अमेरिकी सैनिक भी मारा जाता था। तो ये मान लिया जाता था, कुछ ही घंटे अमेरिका आंतकवादी संगठन का सफाया कर देंगा । लेकिन ये अजीब विडबंना है कि अमेरिका को एक ऐसा राष्ट्रपति मिला है जो कि 15 अमेरिकी सैनिको के मौत बाद भी कुछ नहीं कर सका।

NO COMMENTS

Leave a Reply

%d bloggers like this: