Jammu Kashmir Delimitation:परिसीमन आयोग ने जारी की फाइनल रिपोर्ट, जानें कहां बढ़ीं कितनी सीटें, कब होंगे चुनाव

6 मई को जम्मू-कश्मीर परिसीमन आयोग ने अंतिम रिपोर्ट जारी कर दी है। जम्मू कश्मीर में विधानसभा क्षेत्रों के परिसीमन की प्रक्रिया पुर्ण हो गई है। जैसा कि दोस्तों मैंने अपना फेसबुक पोस्ट के जरिए 23 आप्रैल को ही आपको बता दिया था कि कश्मीर में साल के अंत में चुनाव होने की संभवना यानी गुजरात विधानसभा चुनाव के वक्त ।

Jammu Kashmir Delimitation

जैसा कि चुनावी विश्लेषण के मामले में हमारा यूट्यूब चैनल ind talk सबसे विश्वसनीय है उसी तरह से हम विधानसभा और लोकसभा चुनाव के अपडेट देने में भी सबसे आगे रहेंगे ।

the kashmir files: 1990 कश्मीरी पंडितो के पलायन का जिम्मेदार भाजपा।।।

4 मुख्य पॉइंट

जम्मू कश्मीर के चुनाव कब करवानी है इसका निर्णय उस दिन ही ले लिया गया था जब भाजपा ने महबूबा मुफ्ती के सरकार से समर्थन वापस लिया था। अब इसे चार पॉइंट समझते है।

Jammu Kashmir Delimitation

Jammu Kashmir Delimitation

जम्मू कश्मीर विधानसभा की प्रस्तावित तस्वीर

अब जानते हैं कि परिसीमन के बाद जम्मू कश्मीर में कितने सीटे हो गई। वर्तमान में यहाँ पर सात विधानसभा सीटों में बढ़ोतरी की गई है। जिसके बाद अब जम्मू और कश्मीर के कुल सीटे 90 हो गई। जिसके बाद कश्मीर के सीटे 47 और जम्मू के 43 हो गई।

Jammu Kashmir Delimitation

कुल विधानसभा की प्रस्तावित सीटो की संख्या

कुल सीटें: 90
कश्मीर संभाग : 47
जम्मू संभाग: 43
अनुसूचित जाति: 07
अनुसूचित जनजाति : 09

प्रत्येक लोकसभा में क्षेत्र में 18 विधानसभा सीटे

जम्मू-कश्मीर की लोकसभा सीटों में भी परिसीमन आयोग ने फेरबदल किया है। अब कश्मीर व जम्मू दोनों संभागों के हिस्से ढाई-ढाई लोकसभा सीटें होंगी। पहले जम्मू संभाग में उधमपुर डोडा व जम्मू तथा कश्मीर में बारामुला, अनंतनाग व श्रीनगर की सीटें थीं। नई व्यवस्था के अनुसार अनंतनाग सीट को अब अनंतनाग-राजोरी पुंछ के नाम से जाना जाएगा अर्थात जम्मू सीट से दो जिले राजोरी व पुंछ निकालकर अनंतनाग में शामिल कर किए गए हैं। प्रत्येक लोकसभा सीट में 18 विधानसभा सीटें होंगी। उधमपुर सीट से रियासी जिले को निकालकर जम्मू में शामिल कर लिया गया है।

Jammu Kashmir Delimitation

जम्मू कश्मीर राज्य पुनर्गठन अधिनियम

जम्मू कश्मीर (Jammu and Kashmir) के राज्य पुनर्गठन अधिनियम(States Reorganization Act) के मुताबिक विधानसभा की सात सीटें बढ़ाई जानी हैं। इससे विधानसभा में सदस्यों की संख्या 83 से बढ़कर 90 की जानी हैं। केंद्र शासित प्रदेश (Union Territory) बनने से पहले विधानसभा में सीटों की संख्या 87 थी जिसमें चार सीटें लद्दाख की थीं। लद्दाख के अलग होकर केंद्र शासित प्रदेश (Union Territory) बने के बाद सीटो की संख्या घट गई जिसके बाद 83 सीटें रह गईं। जो कि अब सीटो के संख्या बढ़ने के कारण 90 हो जाएंगी। परिसीमन आयोग ने सात सीटों में एक सीट कश्मीर और छह सीटें जम्मू संभाग में बढ़ाई थी। आपको ये बता दे कि परिसीमन आयोग आयोग ने पीओके के लिए 24 सीटे सुरक्षित रखी है।

Jammu Kashmir Delimitation

चुनाव कब होगा ??

अब हम आपको बताते है कि चुनाव कब होगा। हमारे पास जो जानकारी उसे माने तो नंवबर और दिसम्बर के बीच चुनाव हो सकता है। यानी गुजरात विधानसभा चुनाव के साथ। लेकिन उस समय कश्मीर में ठंड काफी रहेगी इसलिए हो सकता है।कि बर्फबारी होने से पहले जम्मू-कश्मीर (Jammu & Kashmir) में चुनाव हो सकता है। यानी गुजरात चुनाव पहले भी जम्मू-कश्मीर (Jammu & Kashmir) चुनाव हो सकता है।

Leave a Reply

Infinix Zero 5G Goes Official in India as the Brand’s First 5G Phone: Price, Specifications Happy Hug Day 2022: Wishes, Messages, Quotes, Images, Facebook & WhatsApp status IPL Auction 2022 Latest Updates Happy New Year Wishes 2022 Happy New Year Wishes 2022 Happy New Year 2022 Wishes Omicron Variant: अमेरिका में ओमिक्रॉन वैरिएंट का पहला मामला