Sunday, October 24, 2021
HomeTrendingजब प्यार चढ़ा परवान पर टुट गई महजब के दीवारे, अलीगढ़ की...

जब प्यार चढ़ा परवान पर टुट गई महजब के दीवारे, अलीगढ़ की रिहाना बनीं रेनू, मंदिर में किया विवाह, पति के पैर छू कर लिया आशीर्वाद

जब आप किसी से सच्चा प्यार करे तो आपके जीवन में कठिनाइयां तो आएंगी। लेकिन अगर आपके प्यार सच्चा है , और अपने जीवनसाथी पर पुर्ण विश्वास हो तो महजब के दीवारे भी टुट जाती है। कुछ ऐसा ही हुआ अलीगढ़ की रिहाना के साथ। या फिर यू कहिए कि अपने प्यार को परवान चढ़ाने वाली अलीगढ़ की रिहाना पर यह बात सटीक बैठती है। रिहाना ने कायमगंज के विकास राजपूत से हिंदू रीति रिवाज से विवाह किया। अब रजिस्ट्रेशन कराकर अपना नाम रेनू रख लिया। सभी के सामने अपने पति के पैर छूकर आशीर्वाद भी लिया। जनपद अलीगढ़ के थाना लोधा की रहने वाली रिहाना व कायमगंज के गांव सलेमपुर टिलियां निवासी विकास राजपूत दोनों साथ-साथ नोएडा की एक फैक्टरी में काम करते थे। प्रेमी जोड़े ने मंगलवार को बड़ी देवी मंदिर में सात फेरे लिए और कोतवाली जाकर अपने बालिग होने के प्रमाण दिए। जब पुलिस ने युवती के परिजनों से मोबाइल से बात किया तो पिता ने बेटी को भूल जाने की बात कहा।

Inter Religious Marriage

इसके बाद पुलिस ने युवती को उसके प्रेमी के हवाले कर दिया। रिहाना खुशी-खुशी अपनी ससुराल पहुंची। ससुराल में उसे प्यार व सम्मान भी मिला। बुधवार को रिहाना अपने पति के साथ तहसील पहुंची, हिंजाम नेता प्रदीप सक्सेना की सहायता से शादी पंजीकृत कराई। गांव में बहू की मुंह दिखाई का बुलावा भी दिया गया है।

आईए जानते हैं कैसे शुरू हुई ये प्रेम कहानी

Inter Religious Marriage

इस प्रेम कहानी के शुरूआत नोएडा की एक फैक्टरी में हुई। जहाँ ये प्रेमी जोड़े साथ में ही काम किया करते थे। मिडिया रिपोर्ट अनुसार प्रेमी जोड़े ने फर्रूखाबाद के कायमगंज के एक मंदिर में मंगलवार को विवाह कर लिया । उसके बाद प्रेमी जोड़ा कोतवाली पहुंचा और खुद के बालिग होने जानकारी देकर सुरक्षा की गुहार लगाई थी। पुलिस ने युवती के परिजनों से बातचीत करके उसे युवक के सुपुर्द कर दिया था। जनपद अलीगढ़ थाना लोधा निवासी 19 वर्षीय रिहाना कायमगंज के गांव सलेमपुर टिलियां निवासी विकास कुमार राजपूत के साथ नोएडा की एक बल्ब बनाने की एक फैक्टरी में काम करती थी।

युवती हाई स्कूल से युवक इंटर पास है। दोनों को एक दूसरे से प्रेम हो गया। मंगलवार रात दोनों प्रेमी अपने परिजनों को बताए बिना ही नोएडा से कायमगंज आ गए। प्रेमी जोड़े ने हिंजाम नेता प्रदीप सक्सेना से सहायता मांगी। इस पर प्रदीप ने घसिया चिलौली स्थित बड़ी देवी मंदिर में दोनों की शादी करा दी। उसके बाद दोनों कोतवाली पहुंचे थे। वहां एसआई नीतू से मुलाकात कर दोनों ने खुद के बालिग होने के प्रमाण पत्र पेश किए।

शादी में दोनों के परिवारों में से कोई शामिल नहीं हुआ। प्रेमी जोड़ा कुछ देर तक थाने में बैठा रहा। इसके बाद एसआई नीतू ने कहा कि लोधा थाने की पुलिस के माध्यम से युवती के परिजनों से बात की गई तो पिता ने कहा कि जब वह घर से चली गई है तो उन्हें कोई एतराज नहीं है। इस पर पुलिस ने युवती को युवक के हवाले कर दिया। प्रेमी जोड़ा खुशी-खुशी अपने घर को चला गया। इसी के साथ एक लव स्टोरी संपुर्ण हुआ।

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

Most Popular

Recent Comments

%d bloggers like this: