India-China Relation: विदेशमंत्री एस जयशंकर बोले-‘भारत-चीन के साथ अच्छा रिश्ता चाहता है, मगर शर्तों के साथ’

India-China Relation:भारत के विदेशमंत्री (foreign Minister) एस. जयशंकर (EAM S. Jaishankar) ने साओ पाउलो में एक भारतीय समुदाय के कार्यक्रम में भाग लेते हुए भारत-चीन रिश्तों पर बोले कि चीन ने सीमा समझौतों का उल्लंघन किया है| और गलवान घाटी पर चल रहे गतिरोध को छुपा रहा है, क्योंकि दोनों देशों के बीच संबंध बहुत रिश्ते मश्किल टाइम से गुजर रहे हैं। एस. जयशंकर (EAM S. Jaishankar) अपने तीन देशों के दौरे के पहले चरण में ब्राजील के साओ पाउलो में भारतीय समुदाय से मुलाकात की। उसके बाद वह पराग्वे और अर्जेंटीना भी जाएंगे।

India-China Relation

India-China Relation

चीन ने गलवान घाटी में

एस. जयशंकर (EAM S. Jaishankar) बोले कि “हमने 1990 के दशक में चीन के साथ समझौते किए हैं, जो सीमा क्षेत्र में बड़े पैमाने पर सैनिकों को लाने पर रोक लगाते हैं| लेकिन उन्होंने इसकी अवहेलना की है। आप जानते हैं कि गलवान घाटी में क्या हुआ था। समस्या अभी तक हल नहीं हुई है और यह स्पष्ट रूप से इसे कवर कर रहा है|”

India-China Relation

आगे बोले की फिंगर एरिया, गलवान वैली, हॉट स्प्रिंग्स और कोंगरुंग नाला सहित कई क्षेत्रों में चीनी सेना द्वारा उल्लंघन को लेकर भारत और चीन अप्रैल-मई 2020 से गतिरोध में हैं| जून 2020 में गालवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प के बाद स्थिति और खराब हो गई थी|

रिश्ता कभी एक तरफा नहीं हो सकता

India-China Relation

भारत-चीन [Indo-China} के बीच मौजूदा सीमा स्थिति पर बोलते हुए एस. जयशंकर (EAM S. Jaishankar) कहा कि संबंध कभी भी एकतरफा नहीं हो सकते है, और इसे बनाए रखने के लिए आपसी सम्मान होना चाहिए| “वे हमारे पड़ोसी हैं और हर कोई अपने पड़ोसी से मिलना चाहता है। निजी जीवन में भी और देश के अनुसार भी। लेकिन हर कोई उचित शर्तों के साथ मिलना चाहता है। मुझे आपका सम्मान करना चाहिए और आपको मेरा सम्मान करना चाहिए।”India-China Relation

आगे बोले कि “हमारे दृष्टिकोण से, हम बहुत स्पष्ट हैं कि हमें संबंध बनाना है और आपसी सम्मान होना चाहिए। प्रत्येक के अपने हित होंगे और हमें इस बात के प्रति संवेदनशील होने की आवश्यकता है कि रिश्ते के लिए दूसरों की क्या चिंता है।” इसे बनाया जा रहा है।”

India-China Relation

Bihar an introduction

जयशंकर ने कहा, “रिश्ते दोतरफा होते हैं। एक स्थायी रिश्ता एकतरफा नहीं हो सकता। हमें उस आपसी सम्मान और आपसी संवेदनशीलता की जरूरत है। अभी यह कोई रहस्य नहीं है कि हम बहुत कठिन दौर से गुजर रहे हैं।”

India-China Relation

ब्राजील में रहने वाले भारतीय समुदाय के लोगों को धन्यवाद

जयशंकर ने ब्राजील और भारत के बीच एक प्रभावी सेतु के रूप में कार्य करने के लिए भारतीय समुदाय को धन्यवाद दिया। वो बोले कि”भारत-ब्राजील संबंध अच्छी भावना, महान सद्भावना और बढ़ते सहयोग से परिभाषित होते हैं। एक प्रभावी सेतु के रूप में सेवा करने के लिए भारतीय समुदाय को धन्यवाद।”

India-China Relation

2024 में प्रधानमंत्री पद के ‘मजबूत उम्मीदवार’ होंगे नीतीश कुमार , Tejashwi Yadav SUPER EXCLUSIVE INTERVIEW

जयशंकर ने ट्विटर पर कहा, “साओ पाउलो में भारतीय समुदाय से मुलाकात करके मेरी लैटिन अमेरिकी यात्रा शुरू की। भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने पर उनके साथ प्रगति और आशावाद को साझा किया।” विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि अपनी यात्रा के दौरान विदेश मंत्री अपने समकक्षों के साथ द्विपक्षीय संबंध रखने के अलावा तीनों देशों के शीर्ष नेतृत्व से मुलाकात करेंगे|

India-China Relation

ब्राजील-अर्जेंटीना के बाद विदेश मंत्री पराग्वे जाएंगे

पराग्वे में, विदेश मंत्री नए खुले भारतीय दूतावास परिसर का भी उद्घाटन करेंगे, जिसने जनवरी 2022 में काम करना शुरू किया। यह किसी भारतीय विदेश मंत्री की देश की पहली यात्रा होगी| ब्राजील और अर्जेंटीना में, विदेश मंत्री अपने समकक्षों के साथ संयुक्त आयोग की बैठकों (जेसीएम) की सह-अध्यक्षता करेंगे| जेसीएम विविध क्षेत्रों में द्विपक्षीय संबंधों के पूरे स्पेक्ट्रम की समीक्षा करेगा और साझा हित के क्षेत्रीय और Global मुद्दों पर चर्चा करेगा|

Leave a Reply

Infinix Zero 5G Goes Official in India as the Brand’s First 5G Phone: Price, Specifications Happy Hug Day 2022: Wishes, Messages, Quotes, Images, Facebook & WhatsApp status IPL Auction 2022 Latest Updates Happy New Year Wishes 2022 Happy New Year Wishes 2022 Happy New Year 2022 Wishes Omicron Variant: अमेरिका में ओमिक्रॉन वैरिएंट का पहला मामला