Home Trending दिल्ली विश्वविद्यालय में हिंदी विभाग प्रभारी पर दलित प्रोफेसर को थप्पड़ मारने...

दिल्ली विश्वविद्यालय में हिंदी विभाग प्रभारी पर दलित प्रोफेसर को थप्पड़ मारने का आरोप

0
222

Delhi University: दिल्ली विश्वविद्यालय के लक्ष्मीबाई कॉलेज में सोमवार को हुई बैठक के दौरान हिंदी विभाग की प्रभारी शिक्षिका रंजीत कौर ने अपनी साथी एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. डॉक्टर नीलम ने इस मामले में पुलिस में शिकायत दर्ज कर आरोप लगाया था कि वह दलित है और उस पर यह हमला उसकी जाति के कारण किया गया। हालांकि अभी तक इस मामले में शिक्षिका रंजीत कौर की ओर से कोई जवाब नहीं आया है।

डॉ नीलम ने एबीपी न्यूज से बातचीत के दौरान बताया कि घटना सोमवार को कॉलेज में एक बैठक के दौरान हुई. जब प्रभारी शिक्षिका रंजीत कौर ने बैठक का ‘मिनट’ देखने के लिए कहने पर थप्पड़ जड़ दिया. डॉक्टर नीलम ने बताया कि, ”पिछली मुलाकात के दौरान रंजीत कौर ने गलत मिनट्स बनाए थे, इसलिए इस बार मैंने कहा कि मैं इसे पढ़े बिना साइन नहीं करूंगी. लेकिन कौर इतना कहकर नाराज हो गईं और मुझे थप्पड़ मार दिया, उसके बाद उन्होंने मेरा हाथ पकड़ लिया. उनसे रजिस्टर भी छीन लिया गया। इस दौरान बैठक में स्टाफ कॉन्सिल सचिव प्रोमिला समेत 13 और लोग शामिल हुए।’

पुलिस ने शुरू की मामले की जांच

डॉ नीलम ने आरोप लगाया कि, ”एक दलित को आगे बढ़ते देख प्रोफेसर रंजीत कौर के मन में हमेशा द्वेष का भाव रहा है. उनका रवैया साल 2007 का है, जब मुझे कॉलेज में नियुक्त किया गया था.” आपको बता दें कि अब तक 14 से अधिक पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं, उनकी कुछ प्रसिद्ध पुस्तकों में ‘स्त्री स्वर: अतीत और वर्तमान’ और ‘छप्पर की दुनिया’ शामिल हैं।

मामले में डॉ. नीलम की शिकायत के बाद पुलिस ने अपनी जांच शुरू कर दी है. नॉर्थ ईस्ट दिल्ली की एसीपी गरिमा तिवारी ने कॉलेज पहुंचकर इस मामले में बैठक के दौरान मौजूद कॉलेज के अन्य शिक्षकों से पूछताछ कर पूरी घटना जानने की कोशिश की.

DUTA ने घटना की निंदा की

दिल्ली विश्वविद्यालय शिक्षक संघ (DUTA) ने पूरे मामले की निंदा की है। डूटा के अध्यक्ष राजीव राय ने कहा कि, ”निष्पक्ष और समयबद्ध जांच चल रही है, आज डूटा का प्रतिनिधिमंडल भी कॉलेज पहुंचा. पूरे मामले की गंभीरता से जांच की जा रही है.” दिल्ली विश्वविद्यालय के शिक्षकों ने भी इस मामले की कड़ी निंदा की है. कमला नेहरू कॉलेज की प्रोफेसर रजत रानी के मुताबिक, ”मैं हैरान हूं, एक शिक्षक की हिम्मत कैसे हुई? तुरंत कार्रवाई होनी चाहिए.”

किरोड़ीमल कॉलेज के प्रोफेसर नामदेव के मुताबिक, ”लक्ष्मीबाई कॉलेज की दलित शिक्षिका डॉ. नीलम को विभाग की प्रभारी डॉ. रंजीत कौर ने थप्पड़ मारा था. कॉलेज ने शिकायत पत्र डायरी लिखने से इनकार कर दिया है.”

NO COMMENTS

Leave a Reply

%d bloggers like this: