Saturday, October 16, 2021
HomeTrendingनफरत आग में जला बांग्लादेश , दुर्गा पूजा पंडालों में तोड़फोड़, तीन...

नफरत आग में जला बांग्लादेश , दुर्गा पूजा पंडालों में तोड़फोड़, तीन की मौत, कट्टर इस्लामिक आंतकवादी पर मौन बुद्धिजीवी गैंग

इस समय दुनिया सामने सबसे बड़ी चुनौती रेडिकल इस्लामिक टेररिज्म है। आज बांग्लादेश से हिन्दूओ बांग्लादेश में दुर्गा पूजा के मौके पर कट्टरपंथियों ने कई पूजा पंडालों पर हमला बोला और मूर्तियों के साथ तोड़फोड़ की। बांग्लादेश हिंदू यूनिटी काउंसिल ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। ट्वीट में कहा गया, ’13 अक्टूबर 2021, बांग्लादेश के इतिहास में एक निंदनीय दिन था। अष्टमी के दिन मूर्ति विसर्जन के मौके पर कई पूजा मंडपों में तोड़फोड़ की गई। हिंदू अब पूजा मंडपों की रखवाली कर रहे हैं। आज पूरी दुनिया मौन धारण कर चुकी है। मानव अधिकार के कहे जाने वाले देश आज मौन धारण किए हुए है। यहाँ तक दुनिया के किसी बड़े नेता इसकी निंदा तक नहीं किया।

caa durga puja

BBC के रिपोर्ट हिंसा दौरान तीन की मौत

BBC रिपोर्ट अनुसार बांग्लादेश के कोमिल्ला ज़िले में एक पूजा पंडाल में क़ुरान के कथित अपमान की अफ़वाह के बाद हिंसा भड़की जिसके बाद इन क्षेत्रो में भारी संख्या में सुरक्षाबलों को तैनात कर दिया गया है। पुलिस के अनुसार हिंसा में तीन लोगों की मौत हो गई है और दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं।

CAA कानून के विरोध करने वाले कहा गायब ?

भारत आए CAA कानून तहत इन पीड़ित शरणार्थी हिंदुओं के नागरिको को नागरिकता दी जाती है। लेकिन भारत बैठे इस्लामिक जैहादी , रेडिकल वामपंथी , वोटबैक लालची राजनीति दल और तथाकठित सेक्युलर लोगो ने इस कानून विरोध किया। ये आप सबको मालूम है कि सरकार CAA विरोध प्रदर्शन में कितना हिंसा हुआ था। लेकिन केंद्र सरकार ने CAA कानून पर अबतक यही कहके टालती रही है कि अभीतक इसके नियम नहीं बनी है। खैर CAA कानून कब लागू होगा , ये तो गृहमंत्री अमित शाह ही बताए गे। जो आंदोलनजीवी और खासकर बुद्धिजीवी गैंग CAA कानून के विरोध कर रहे थे। वह सब अभी
बांग्लादेश और पाकिस्तान जैसे देशों में हिंदुओं पर हो रहे अत्याचार पर कोई बुद्धिजीवी उफ तक नहीं कर रहा है।

वर्ष 2011 की जनगणना अनुसार बांग्लादेश में जनसंख्या घटी

वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार बांग्लादेश की 14.9 करोड़ की आबादी में करीब 8.5 फ़ीसदी हिंदू हैं। कोमिल्ला ज़िला समेत वहां के कई और ज़िलों में हिंदू समुदाय की बड़ी जनसंख्या है। इसके बाजवुद परिस्थिती ऐसी परिस्थिती सामना हिन्दूओ करना पड़ रहा है । आपको जानकारी के लिए बता दे कि बांग्लादेश में हिन्दू समुदाय अल्पसंख्यक है।

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

Most Popular

Recent Comments

%d bloggers like this: