Breaking News

Today's political news analysis:Kya yogi कुर्सी बच गई और जानिए आगे क्या होने वाला Up की राजनीति में . और महाराष्ट्र ठाकरे सरकार गिरने वाली है..

 Today's political news analysis

पहली खबर @AmitShah जी और योगीजी जी मुलाकात आम मुलाकात तौर पर नहीं देखना चाहिए । बल्कि युपी चुनाव नजरिए से देंखे तो ,  ऐसे कहा जाता है कि राजनीति में दो प्रकार की इंजीनियरिंग होती है..  पहली सोशल इंजीनियरिंग जिसमें करीब पांच या 6  साल समय लगता है। जो कि वर्तामान परिस्थिती संभव नहीं हो सकता है। क्योंकि अगले साल चुनाव है।

Today's political news analysis: yogi ji


दुसरी होती है कि पोलिटिकल इंजीनियरिंग जिसमें समय की अवश्यकता नहीं होती बल्कि कुशल रणनिति अवश्यकता होती है .. जिसमें अमित शाह और योगीजी माहिर है .. कल योगीजी   प्रधानमंत्री जी और भाजपा अध्यक्ष मुलाकात है..  खबरे ऐसी आ रही है कि युपी में मंत्रिमंडल विस्तार होने जा रहा है जिसमें पोलिटिकल इंजीनियरिंग देखने की मिलेगा। सुत्रो के माने तो अनुप्रिया पटेल मंत्रीमंडल शामिल किया जाएगा। इसके अलावा अन्य कई लोगो मंत्रीमंडल शामिल किया जाएगा। 



दुसरी बड़ी खबर आ रही है महाराष्ट्र की राजनीति से सीएम उद्धव ठाकरे ने दिल्‍ली जाकर पीएम मोदी से मुलाकात की थी। उनके साथ अजित पवार और आशोक चव्‍हाण भी थे लेकिन इसके बाद उद्धव और मोदी की कुछ देर अलग भी बैठक हुई। इस वन टू वन मुलाकात के बाद ही राजनीतिक अटकलें लगनी लगीं। जब ठाकरे से पूछा गया कि किस मुद्दे पर पीएम मोदी से बात हुई तो ठाकरे बोले, 'मैं कोई नवाज शरीफ से मिलने नहीं गया था। अगर मैं उनसे व्‍यक्तिगत तौर पर मिला तो इसमें गलत क्‍या है?' ठाकरे ने यह भी जोड़ा, 'राजनीतिक तौर पर तो हम उनके साथ नहीं हैं लेकिन इसका मतलब यह नहीं है क‍ि हमारा संबंध टूट गया है। महाराष्ट्र राजनीति कुछ बड़ा होने वाला इसका संकेत सजय राउत ने आज उस पल दिया जब उन्होंने ये कहा कि पिछले सात साल में भाजपा की सफलता का श्रेय मोदी को जाता है. वह अभी देश और अपनी पार्टी के शीर्ष नेता हैं। इससे साबित होता है कि महाराष्ट्र राजनीति कुछ बड़ा होने वाला है। राजनीति कब किस करवट बैठेगी यह कोई नहीं बता सकता। यहां न तो कोई किसी का स्थायी दोस्त होता है और न ही स्थायी दुश्मन। 



अब बढ़ते है तीसरी राजनीति विश्लेषण की और जितिन प्रसाद पार्टी में ब्राह्मण चेहरे के तौर पर प्रोजेक्‍ट करना चाहती है। अगले साल यूपी में विधानसभा चुनाव हैं और 12 पर्सेंट वोटर ब्राह्मण हैं।  विकास दुबे एनकाउंटर के बाद कई लोगो माना है कि ब्राह्मण समाज योगीजी नेतृत्व प्रति नाराजगी है। किंतु वास्तविकता क्या है ये तो आने वाला चुनाव में ही नजर आएगा। जितिन प्रसाद जाना कांग्रेस पार्टी के लिए बड़ा क्षति है। वही सचिन पायलट भी कांग्रेस नाराज चल रहे है। अगर सचिन पायलट पार्टी छोड़ते है तो कांग्रेस के लिए बड़ा झटका रहेंगा।


 



अब बढ़ते है चौथे राजनीति विश्लेषण की और मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और पार्टी नेता नवजोत सिंह सिद्धू कांग्रेस की पंजाब इकाई में कलह को दूर करने के मकसद से गठित तीन सदस्यीय समिति ने गुरुवार को अपनी रिपोर्ट पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को सौंप दी। अगले कुछ दिनों के भीतर आलाकमान की ओर से राज्य में इस संकट को दूर करने के लिए फॉर्म्यूला तय किए जाने की संभावना है.. सुत्रो के माने तो नवजोत सिंह सिद्धू को डिप्टी सीएम  बनाया जा सकता जिसे सिद्धू माने गे नहीं क्योंकि वो भाजपा भी मुख्यमंत्री पद ना मिलने की वजह छोड़े। वही सुत्रो माने तो केजीवाल से बात कर रहे , केजीवाल से बात नहीं बनी तो वो अपना राजनीति दल बना सकते है।जिसमें किसानो का भी सहयोग लिया जा सकता है। 



आने वाले समय भारतीय राजनीति कई बड़े परिवर्तन देखने को मिलेगी.. जिसकी कल्पना भी आप नहीं कर सकते है।



लेखक राजनीति विश्लेषक व जानकार - Shashi Kant Yadav 




1 comment:

  1. आप सभी केवल खबर पढ़े ही नहीं बल्कि अपना सुझाव भी दे

    ReplyDelete