Breaking News

NASA FULL FORM

 हर कोई ब्रह्मांड के बारे में जानकारी प्राप्त करने में रुचि रखता है। वह जानना चाहता है कि पृथ्वी के बाहर की दुनिया कैसी है। हर कोई जानना चाहता है कि बादलों के पीछे क्या है। कोई अंतरिक्ष में रहता है या नहीं? क्या हम भी वहां रह सकते हैं? आज के समय में, बढ़ती प्रौद्योगिकी और नए प्रयोगों के माध्यम से अंतरिक्ष के बारे में अधिक जानकारी प्रतिदिन प्राप्त हुई है। प्रत्येक देश की अपनी एक एजेंसी होती है, जो अंतरिक्ष से संबंधित जानकारी एकत्र करती है। नासा इन एजेंसियों के बीच एक एजेंसी है। इसके माध्यम से, अंतरिक्ष की जानकारी अन्य देशों के साथ प्राप्त और साझा की जाती है। इस पृष्ठ पर, नासा पूर्ण प्रपत्र हिंदी में, नासा की स्थापना और इतिहास के बारे में जानकारी प्रदान की गई है।


NASA FULL FORM

नासा का पूर्ण रूप नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन है। हिंदी में इसे 'नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन' कहा जाता है। यह दुनिया की सबसे बड़ी एजेंसी है। इसे संक्षेप में नासा कहा जाता है। यह संयुक्त राज्य अमेरिका की अंतरिक्ष एजेंसी है। इसका गठन 19 जुलाई 1958 को, राष्ट्रीय वैमानिकी और अंतरिक्ष वैमानिकी को ध्यान में रखते हुए किया गया था। इसे एयरोनॉटिक्स के लिए राष्ट्रीय सलाहकार समिति के स्थान पर बनाया गया था। इसका मुख्य कार्य अंतरिक्ष कार्यक्रमों और वैमानिकी में अनुसंधान करना है।

NASAकी स्थापना

नासा दुनिया की सबसे बड़ी और सबसे सफल अंतरिक्ष एजेंसी में से एक है। इसके द्वारा बहुत बड़ी खोजें की गई हैं। इसकी स्थापना 19 जुलाई 1958 को हुई थी। नासा की स्थापना के बाद, अमेरिका में अंतरिक्ष में की गई सभी खोजें नासा के नेतृत्व में की गई हैं, जिसमें अपोलो द्वारा चंद्रमा की परिक्रमा करना, स्काईलैब स्टेशन और स्पेस शटल जैसे कई बड़े कार्य शामिल हैं। नासा ने अंतरिक्ष के सबसे बड़े ग्रहों और उपग्रहों पर जाकर अपनी सफलता को स्थापित किया है, पूरी दुनिया को नासा की खोज का लाभ मिल रहा है। नासा की स्थापना तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति ड्वाइट डी। आइजनहावर ने की थी।

NASA का इतिहास 

नासा की स्थापना अमेरिकी सरकार ने 1958 के जुलाई महीने में की थी। इसका मुख्यालय वाशिंगटन डीसी में है। इसे नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एक्ट द्वारा बनाया गया है। वर्तमान में संयुक्त राज्य अमेरिका में दस नासा केंद्र हैं। इन केंद्रों में, सात केंद्रों में परीक्षण और अनुसंधान सुविधाएं प्रदान की गई हैं। 18,000 से अधिक लोग यहां काम करते हैं। नासा की नौकरी को सर्वश्रेष्ठ नौकरियों में से एक माना जाता है। कई इंजीनियर और वैज्ञानिक यहां काम करते हैं, इसके अलावा, कई लोग यहां कार्यरत हैं, जो नासा के मिशन में मदद करते हैं। सचिव, लेखक, वकील और शिक्षक भी यहां काम करते हैं।


अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन के निर्माण में नासा ने बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। यह ओरियन बहुउद्देशीय-चालक दल वाहन, अंतरिक्ष प्रक्षेपण प्रणाली और वाणिज्यिक चालक दल वाहन का समर्थन कर रहा है। नासा की स्थापना के बाद, इसके पहले उपग्रह establishment एक्सप्लोर 1 ’का भी सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया था।

पायनियर (PIONEER)

पायनियर 10 को नासा द्वारा वर्ष 1972 में लॉन्च किया गया था। इसके बाद वर्ष 1973 में पायनियर 11 को लॉन्च किया गया था। यह सौर प्रणाली में सबसे अधिक फोटोजेनिक गैस के लिए किया गया था। ये बृहस्पति और शनि की यात्रा करने वाले पहले वाहन थे। पायनियर 10 ने मंगल और बृहस्पति के बीच चट्टानों की कक्षा के बीच यात्रा करने वाली पहली जांच की। इससे सौर मंडल के क्षुद्रग्रह बेल्ट के बारे में जानकारी प्राप्त की गई थी। बृहस्पति ग्रह का पहला फ्लाईबाय अंतरिक्ष यान द्वारा पायनियर के प्रक्षेपण के एक साल और छह महीने बाद बनाया गया था। ग्रेट रेड स्पॉट की आश्चर्यजनक तस्वीरें इसके द्वारा प्राप्त की गई थीं।

इसके बाद, पायनियर 11 ने बृहस्पति से उड़ान भरी और शनि के पास गया। वहाँ, शनि के आसपास अज्ञात छोटे चंद्रमाओं की एक जोड़ी की खोज की गई थी। वर्तमान में, डेटा भेजना दोनों द्वारा रोक दिया गया है। वे अपने सौर मंडल के माध्यम से अंतरिक्ष में यात्रा कर रहे हैं।

No comments