Breaking News

विमानों का कब्रिस्तान – Largest Cemetery Of Planes Boneyard

 

विमानों का कब्रिस्तान – Largest Cemetery Of Planes Boneyard

आपने सबसे बड़े कब्रिस्तान के बारे में सुना होगा, जहां लाखों लोग दफन हैं, लेकिन क्या आपने कभी सुना है कि विमानों में कब्रें भी होती हैं। जी हां, अमेरिका में एक ऐसी जगह है, जिसे दुनिया में सैन्य विमानों के सबसे बड़े कब्रिस्तान के रूप में जाना जाता है। यहां चार हजार से अधिक बेकार सैन्य विमान रखे गए हैं। इसके अलावा, कई अंतरिक्ष यान भी विमानों के इस कब्रिस्तान में रखे गए हैं।


विमानों का सबसे बड़ा कब्रिस्तान एरिज़ोना के टक्सन रेगिस्तान में है, जो लगभग 2600 एकड़ में फैला है। यह आकार में लगभग 1400 फुटबॉल क्षेत्रों के बराबर है। यह स्थान 'बोनीयार्ड' के नाम से प्रसिद्ध है। वर्ष 2010 में, Google धरती ने पहली बार इस स्थान की स्पष्ट तस्वीरें जारी कीं।

 द्वितीय विश्व युद्ध में अमेरिकी सेना द्वारा उपयोग किए जाने वाले विमानों में नए से लेकर विमान तक शामिल हैं। शीत युद्ध बम विमान बी -52 को भी इस कब्रिस्तान में रखा गया है। 1990 में अमेरिका और सोवियत संघ के बीच SALT निरस्त्रीकरण समझौते के बाद B-52 विमान को अमेरिकी बेड़े से हटा दिया गया था। इसके अलावा, एफ -14 विमान भी यहां रखे गए हैं, जो हॉलीवुड की प्रसिद्ध फिल्म 'टॉप गन' में दिखाया गया है।

विमान को 2006 में अमेरिकी नौसेना द्वारा अपने बेड़े से हटा दिया गया था। अमेरिका का 309 वां एयरोस्पेस रखरखाव और उत्थान समूह यहां पहुंचने वाले विमानों और मरम्मत विमानों का सबसे बड़ा कब्रिस्तान रखता है। इसके अलावा, उनमें से कुछ विमान को उड़ान भरने लायक बनाते हैं। यहां पुराने विमान के इंजन सहित बाकी हिस्सों को कम कीमत पर रखा और बेचा जाता है। अमेरिकी सरकार ने अन्य देशों को भी यहां से पुराने हिस्से और विमान खरीदने की अनुमति दी है।

विमान का सबसे बड़ा कब्रिस्तान, यानी 'बोनीयार्ड', द्वितीय विश्व युद्ध के ठीक बाद स्थापित किया गया था। दरअसल, इस जगह को इसकी ऊंचाई और शुष्क परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए चुना गया था, क्योंकि अगर विमानों को ऐसी जगहों पर रखा जाता, तो भी वे जल्दी नहीं बिगड़ते।

No comments