Breaking News

bihar election 2020: exit poll bihar 2020 ,क्या सच साबित होगा और जानिए अबतक सबसे सटीक विश्लेषण ...

 



नमस्कार मित्रो बिहार में लोकतंत्र महापर्व समाप्त हो चुका है। कोविड 19 जैसी संकट काल में भी जनता ने लोकतंत्र की इस महापर्व में बहुत ही ज्यादा संख्या में हिस्सा लिया है ।  जैसा कि हर बार आम तौर पर होता है कि चुनाव समाप्त होने के उपरांत विभिन्न चैनलो और  एजेंसिया exit poll आता है। हर चैनल व सर्वे एजेंसिया दावा करती है कि उस चैनल सर्वे सबसे सटीक और सही है । परंतु प्रश्न ये है कि जो सर्वे में बताया जा रहा है वो कितना सटीक होता है । बात करे तो 2015 विधानसभा चुनाव में सभी सर्वे गलत साबित हुआ था , उस समय सभी सर्वे भाजपा की जीत भविष्यवाणी कर रही थी परंतु उस समय सभी सर्वे गलत साबित हुआ था । 

exit poll bihar

bihar election 2020 में बात करे तो पहले अनुमान लग रहा था कि Nitish Kumar प्रति जनता में गहरी नाराजगी है। जब में ने exit poll देखा तो में बिल्कुल भी आश्चर्यचकित नही हुआ क्योंकि मुझे अनुमान लग चुका था कि इस बार जनता के मन में परिवर्तन की लहर (Wave) है। कुछ दिन पहले में ने  एक बड़े राजनीतिक विश्लेषक की Article पढ़ा था जिसमें उन्होंने कहा था कि इस चुनाव में silenced voters है। इसलिए मुझे सर्वे पर शक हो रहा है कि जब ज्यादतर silenced voters है तो फिर exit pol ये आकड़े कैसे सच मान सकते है। जैसा कि आप जानते कि पिछले बिहार विधानसभा की चुनाव में exit pol आंकड़े बिल्कुल गलत साबित हुई थी। परंतु अक्सर ही राजनीतिक विश्लेषक  कहते है कि जब मतदान 52 से 56  प्रतिशत की बीच होती है तो समझना सबसे ज्यादा कठिन हो जाता है कि वर्तामान सरकार रहेगी या नही। राजनीतिक विश्लेषको के बीच आम धारणा है कि 70 प्रतिशत मतदान होने पर सत्ता विरोधी लहर है। परंतु इस बार की चुनाव में वोट प्रतिशत 55.83 प्रतिशत रहा है ।  परंतु फिर भी exit poll ये आंकड़े बता रही है  कि महागठबंधन की बहुमत की सरकार बन रही है। तो ये बिल्कुल चौकाने वाला नही है। क्योंकि अब सरकार अल्प बहुमत ( Minority majority) वक्त समाप्त हो चुका है।  आज दौर जनता कोई एक पार्टी पंसद आती है तो उसे स्पष्ट बहुमत की सरकार बनाती है। 90 दशक में लोगो के पास Smartphone या सोशल मिडिया नही थी । तब अनुमान नही लगता था कि इस बार हवा किस और है। पहले लोगो ये नही मालूम रहता है कि दुसरे मोहल्ले लोग किस पार्टी वोट कर रहे है। परंतु आज दौर में सोशल मीडिया माध्यम एक दुसरे जुड़े इस वजह से लोगो मालूम  आसानी मालूम होता है कि किस पार्टी सत्ता आ रही है। इसलिए आज दौर में ज्यादातर  स्पष्ट बहुमत सरकारे बन रही है।


चलिए जानते हैं कि विभिन्न चैनलो के  सर्वे क्या कहती वैसे एक्जिट पोल की बात करे तो चाणक्य और इंडिया माई एक्सेस के एग्जिट पोल में महागठबंधन की बहुमत की सरकार बनती दिखाई दे रही है जबकि बाकी सर्वे में त्रिशंकु विधानसभा के आसार दिखाई दे रहे हैं। परंतु एक ऐसी सर्वे है जिसमें NDA की सरकार बन रही है। जी हाँ  Bhaskar की सर्वे एनडीए की बहुमत वाली सरकार बना रही है।


आजतक- Axis


इंडिया टुडे और आजतक Axis एग्जिट पोल में महागठबंधन को 139-161 सीटें मिलने का अनुमान दिया गया है और एनडीए के पास 69-91 सीटें जाती हुई दिख रही हैं. इसके अलावा एलजेपी को 3 से 5 सीटें और अन्य को 6 से 10 सीटें मिलती दिख रही हैं।


Republic-जन की बात


रिपब्लिक-जन की बात के एग्जिट पोल के मुताबिक विपक्ष महागठबंधन को 118-1138 सीटें मिलती दिख रही हैं और सत्ताधारी एनडीए को 91-117 सीटें मिलने का अनुमान जताया गया है।


टाइम्स नाऊ-सी वोटर


टाइम्स नाऊ-सी वोटर के सर्वे में भी महागठबंधन आगे जाता दिख रहा है और इसे 120 सीटें मिलती दिख रही हैं. इसके अलावा सत्ताधारी एनडीए को 116 सीटों पर जीत मिलती दिख रही है. एलजेपी के खाते में 1 सीट जाती दिख रही है और अन्य के पास 6 सीटों के जाने का अनुमान दिख रहा है।


TV9-भारतवर्ष


तेजस्वी यादव के नेतृत्व में लड़ रहे महागठबंधन को 120 सीटें मिलने का अनुमान है और सत्ताधारी एनडीए को 115 सीटें मिलने की उम्मीद इस एग्जिट पोल में जताई गई है. चिराग पासवान की एलजेपी चार सीटों पर जीत हासिल कर सकती है।


India News-DV Resarch Exit Poll Result


इंडिया न्यूज- डीवी रिसर्च के एग्जिट पोल में एनडीए गठबंधन को 110-117 और महागठबंधन को 108 से 123 सीटें मिलने का अनुमान


CNN News-18- टुडेज चाणक्य


सीएनएन न्यूज-18 और टुडेज चाणक्य के एग्जिट पोल में महागठबंधन की सुनामी आने का अनुमान जताया है और कहा है कि बिहार चुनाव में ये गठबंधन 180 सीटें जीत सकता है. वहीं एनडीए को केवल 55 सीटें जीतने का अनुमान है और एलजेपी को एक भी सीट न मिलने की संभावना है।


दैनिक भास्कर


दैनिक भास्कर ने हालांकि सत्तारूढ़ एनडीए को 120-127 सीटों का अनुमान दिया है और विपक्षी महागठबंधन को 71 से 81 सीटें मिलने की बात कही है. इसके अलावा लोक जनशक्ति पार्टी यानी एलजेपी को 12 से 23 सीटें मिलने का अनुमान दिया है।


News x-डीवीरसर्च


News x-डीवीरसर्च के मुताबिक सत्ताधारी एनडीए को 110-117 सीटें मिलने का अनुमान है और विपक्षी महागठबंधन को 108-123 सीटें मिलने की उम्मीद है. वहीं एलजेपी के खाते में 4 से 10 सीटें आने का अनुमान है।


ZEE NEWS के महाएग्जिट पोल 


ZEE NEWS के महाएग्जिट पोल में महागठबंधन को स्पष्ट बहुमत मिल रहा है। इसमें महागठबंधन को 144 सीटें, एनडीए को 89 सीटें, एलजेपी को 3 और अन्य के खाते में 7 सीटें जाती नजर आ रही हैं।


ABP-C वोटर


एबीपी-सी-वोटर के एग्जिट पोल में महागठबंधन को 108-131 सीटों पर जीत मिलने का अनुमान है. एग्जिट पोल में एनडीए को 104-128 सीटें मिलती दिख रही हैं और इसके अलावा चिराग पासवान की एलजेपी को सिर्फ 1-3 सीटों पर जीत मिलने की उम्मीद है, वहीं अन्य के खाते में 4-8 सीटें जाने का अनुमान है।


दैनिक भास्कर को छोड़कर अन्य सभी चैनल व एजेंसिया के सर्वे महागठबंधन बढ़त बनाई हुई है , वही कुछ सर्वे में त्रिशंकु विधानसभा के आसार भी जताया गया है। परंतु जैसा कि मेंने कहा कि पिछले कुछ चुनाव रिकॉर्ड यही बताती है कि अब त्रिशंकु विधानसभा संभवना बहुत ही कम हो चुका है। परंतु किक्रेटर में एक शब्द कहा जाता है कि जबतक अंतिम  बॉल ना फेका जाए तबतक ये नही कहा जा सकता है कि तबतक किसी पराजय या विजय हो जाती है। उसी तरह राजनीति में कहा जाता है कि जबतक अंतिम वोट नही गिना जाता है कि तब तक ये नही मानना चाहिए कि किसी दल विजय हो गई या पराजय।बिहार विधानसभा के पिछले सर्वे गलत साबित हुई परंतु उसके उपरांत लोकसभा 2019 में सभी सर्वे सच साबित हुई थी , जब कि हरियाणा विधानसभा की चुनाव सर्वे में गलत भी साबित हुई थी।


exit poll का आकड़े का सच साबित होती जीत का श्रेय किसे जाएगा 


exit poll के नतीजे सच साबित होती है तो इस जीत का पुरा श्रेय वन मैन आर्मी तेजस्वी यादव जाएगा , जब पिता जेल में हो और 31 साल युवा अकेले दम पर पुरी पार्टी एकजुट रखना कठिन कार्य था। जिस कठिन परिस्थिती में तेजस्वी यादव पार्टी सभांला है।उस से उनका नेतृत्व क्षमता की प्रसन्नता करना चाहिए। माता पिता के राज को जंगल राज बोलकर विरोधी दल लगातार ही मुद्दा बना रहे थे , जिसके लिए तेजस्वी जिम्मेदार नही थे परंतु वो लगातार उन्ही आरोपो को झेल रहे है। तेजस्वी यादव पास मौका एक अलग छवि बनाने की ,  विकास यात्रा ओर भी तेज करने का । तेजस्वी यादव को वैसा बिहार नही मिला है जैसा नितीश कुमार को मिला था। हम आज के बिहार आर्थिक रूप संपन्न  नही कह सकते है लेकिन वर्तमान बिहार किसी भी क्षेत्र में पिछे नही है । बस उद्योग ,  ही क्षेत्र में बिहार पिछड़ा हुआ इसके अलावा सरकारी अस्पताल के क्षेत्र में भी बिहार पिछड़ा हुआ है। जैसा कि आप जानते है कि बिहार चुनाव के दौरान हमने एक यूट्यूब सीरीज को शुरूआत की थी जिसका नाम Pataliputra ka 2020 mein king kon इस सीरीज में बेरोजगारी और उद्योग जुड़े मुद्दे लगातार ही उठाया जिसे आप ने हमारे यूट्यूब चैनल Ind talk देखा ही होगा परंतु अभी तक नही देखा है तो निचे दिए Link क्लिक करके जरूर देखे।




बस कहना चाहता हूँ कि जो नतीजे एक्जिट पोल में आई है वही नतीजे बदलेगी ये कहना जल्दी होगा। क्योंकि 2015 के सभी एक्जिट पोल गलत साबित हुई थी। और में ने सभी सर्वे अध्ययन के बाद ये पाया है कि चिराग पासवान की पार्टी बहुत कम सीटे दिया जा रहा है , नतीजे देखने के बाद ऐसा लग रहा है कि चिराग पासवान की पार्टी के Ljp बस वोट काटने के चुनाव लड़ रही थी। मुझे लगता है कि चिराग पासवान की पार्टी सीटे इस बार कम से कम 10 से 15 होना चाहिए। नतीजे क्या होगी वो तो 10 नवंबर को ही मालूम पड़ेगा । अंत exit pol नतीजे यही कह रहे है कि पाटलिपुत्र का किंग तेजस्वी यादव होगे बाकी असल नतीजे तो 10 आएगा।


लेकिन हमारे साथ बने रहिए  क्योंकि हम आपको बताएगे कि पहले चरण मतदान के उपरांत नितीश कुमार लग चुका हार अनुमान ,  मीटिंग में क्यों हो गए नाराज , और जिसके बाद दिल्ली के दो बड़े भाजपा नेता नितीश को मनाने पाटलिपुत्र आए थे , इसे हम अगले ब्लॉक बताएगे। राजनीति सबसे सटीक विश्लेषण के लिए बने रहिए Shashiblog.in के साथ ..


No comments