Breaking News

bihar election 2020 opinion poll : nitish kumar vs tejashwi yadav सबसे सटीक राजनीति विश्लेषण

 

नमस्कार दोस्तों आज बिहार चुनाव (bihar election) opinion poll पर अपना विश्लेषण करेंगे , ये भी जाने प्रयास करेंगे कि ये सर्वे वास्तविकता पर कितनी  खड़ी उतरती है या फिर नही , क्योंकि बिहार के पिछले चुनाव में सभी एग्जिट पोल झुठा साबित हुआ था। बिहार की जनता के बारे कहा जाता है कि राजनीति सबसे ज्यादा जागरूक होते , अगर बिहार के किसी चाय दुकान में भी चले जाएगे तो आपको पुरी राजनीति ज्ञान आसानी मिल जाएगी। आईए जानते हैं कि अबतक  सर्वे पर सबसे सटीक विश्लेषण करते है

bihar election 2020 opinion poll

सबसे पहले आजतक के सर्वे का विश्लेषण करेंगे क्योंकि आजतक की सर्वे पिछले चुनाव लोकसभा चुनाव में सबसे सही रहा था।

Aajtak ,  India Today TV & Lokniti-CSDS सर्वे का परिणाम

आपको बता दे कि ये सर्वे लोकनीति-सीएसडीएस के ओपिनियन पोल में 37 विधानसभा सीटों के 148 बूथों को कवर किया गया जिनमें से 3731 लोगों से बात की गई। ये सर्वे 10 से 17 अक्टूबर के बीच किया गया। इनमें 60 फीसदी पुरुष और 40 फीसदी महिला मतदाताओं से बात की गई।पृष्ठभूमि की बात करें तो 90 फीसदी सैंपल ग्रामीण इलाकों से और 10 फीसदी शहरी इलाकों के लोगों से बात की गई। इनमें हर आयुवर्ग के लोग शामिल थे। 18 से 25 साल तक के 14 फीसदी, 26 से 35 साल के 29 फीसदी, 36 से 45 साल के 15 फीसदी, 46 से 55 साल के 15 फीसदी और 56 साल के अधिक के 17 फीसदी लोग शामिल थे। इस सैंपल में 16 फीसदी सवर्ण, 51 फीसदी ओबीसी, 18 फीसदी एससी और 14 फीसदी मुस्लिम शामिल रहे।

Aajtak ,  India Today TV & Lokniti-CSDS सर्वे में किसे कितनी वोट शेयर

NDA: 38

MGB: 32

LJP: छह फीसदी

सर्वे में नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले NDA को स्पष्ट बहुमत मिलता दिख रहा है,  एनडीए को 133-143 सीट मिलने का अनुमान है। वहीं महागठबंधन को 88-98 सीट, एलजेपी को 2-6 सीट और अन्य को 6 से 10 सीटै मिलने का अनुमान है।

52% लोग नीतीश सरकार के काम से संतुष्ट

सर्वे में 52 % लोग नीतीश सरकार के काम से संतुष्ट हैं। जबकि 44 फीसदी लोग असंतुष्ट हैं। वहीं 61 फीसदी लोग मोदी सरकार के कामकाज से खुश दिखे तो वहीं 35 फीसदी लोगों ने नाखुशी जताई है।

दोस्तों ये थी आजतक की सरवे हम अब आगे बढ़े है , ABP news की सर्वे के बारे आपको बताते है

एबीपी और सी वोटर ओपिनियन पोल:

ABP news और सी वोटर की ओर से किए गए सर्वे में भी NDA फिर से सत्ता में वापस आती दिख रहा है। ABP के पोल में आरजेडी के नेतृत्व वाले महागठबंधन हारती हुई दिख रही है। इस सर्वे में एनडीए को 135-159  सीटें सकती हैं और यूपीए को
77-98 सीट और एलजेपी को 1-5 सीट मिल सकती हैं. वहीं अन्य के खाते में 4 से 8 सीटें जा सकती हैं।  यहां ध्यान देने वाली बात है कि एबीपी न्यूज सर्वे 1 अक्टूबर से 23 अक्टूबर के बीच किया गया। इस ओपिनियन पोल में बिहार के सभी 243 सीटों पर कुल 30 हजार 678 लोगों से बातचीत की गई है।

एबीपी और सी वोटर ओपिनियन पोल में नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले बिहार एनडीए को करीब 43 प्रतिशत वोट शेयर , आरजेडी के 35 प्रतिशत वोट शेयर , चिराग पासवान के पार्टी LJP के 4 प्रतिशत वोट शेयर और अन्य को 18 प्रतिशत वोट शेयर ....



आईए अब जानते Times Now-CVoter की Opinion Poll  किसकी सरकार बनाती है।

Opinion Poll  टाइम्स नाउ ने 30 हजार से अधिक लोगों पर सर्वे किया और 60 हजार से अधिक लोगों की राय शामिल की गई। इसलिए आप Times Now-CVoter सैंपल सबसे ज्यादा होने की वजह से इस सर्वे यकीन किया जा सकता किंतु वास्तविकता  यही होगा ये कहना थोड़ा जल्दी होगा ।

Times Now-CVoter के सर्वे नितीश कुमार कितने खुश बिहार जनता

बिहार के 27.43% लोग बहुत अधिक संतुष्ट हैं। जबकि 31.54 प्रतिशत कुछ कम संतुष्ट हैं। जबकि 40.42% लोग नीतीश कुमार ने संतुष्ट नहीं है। वहीं पीएम मोदी के प्रदर्शन से 47.06% लोग बहुत संतुष्ट थे, 28.45% थोड़े कम संतुष्ट थे। वहीं 24.29% लोग पीएम मोदी के प्रदर्शन से संतुष्ट नहीं थे।

सर्वे में बिहार अगले मुख्यमंत्री की पहली पंसद

29.5 प्रतिशत लोगों की पहली पसंद नीतीश कुमार ही हैं। जबकि चिराग पासवान को 13.8 प्रतिशत लोग सीएम के रूप में देखना चाहते हैं। वहीं तेजस्वी यादव को 19.9 प्रतिशत और सुशील मोदी को 9.9 लोग सीएम के रूप में देखना चाहते हैं।

जानिए सर्वे किसे कितनी सीट मिलेगी

Times Now-CVoter के सर्वे अनुसार इस बार किस पार्टी कितनी सीट मिलेगी आईए जानते हैं । एनडीए (NDA) को 147 सीट मिलेगी,
  युपीए( UPA) 87 सीटे मिलेगी और  LJP + Others: 9 सीटे मिलेगी ।


इन सभी सर्वे विश्लेषण करने के बाद हम यही कह सकते है कि वर्तामान राजनीति प्रत्यक्ष रूप देखे तो बिहार के इस बार नतीजा सबसे अलग होगा ,जिस तरह क्रिकेट अंतिम बॉल मैच होता उसी तरह चुनाव में भी अंतिम वोट तक कहना कठिन होता कौन जीतेगा। परंतु कई बार सर्वे सही होती तो कई बार सर्वे गलत होती है , जिसका प्रत्यक्ष उदाहरण तौर कह सकते है जैसे कि 2004, 2009, 2014 और  2019 के लोकसभा चुनाव के सर्वे बिल्कुल गलत साबित हुईथी।इसका दुसरा प्रत्यक्ष उदाहरण है हाल हुए हरियाणा चुनाव जहाँ पर सभी opinion poll बिल्कुल गलत साबित हुई थी। सीधे शब्दो कहे तो वर्तमान opinion poll को 10 नवंबर को नतीजा वास्तविकता नही समझना चाहिए। बल्कि इस बार के चुनाव परिणाम चौकाने साबित होगा , क्योंकि धरातल परिस्थिती कुछ और चुनाव परिणाम जैसा बताया जा रहा है , वैसा नही होगा। हमे भी जनता मिली  fateback अनुसार कह सकते है कि इस चुनाव परिणाम चौकाने वाला साबित होगा । 7 नवंबर को मतदान समाप्त होने के बाद आपके लिए सबसे सटीक विश्लेषण और सभी एग्जिट पोल के विश्लेषण ले कर आएगे।

दोस्तों आपको ये लेख कैसा लगा हमे कामेंट जरूर बताईए और पंसद आए तो मित्रो साझा शेयर करे साथ में latest information पाने के हमारे साइट को बिल्कुल ही नि: शुल्क subscribe कर ले.

No comments