Breaking News

देश की Economy का बुरा दौर हुआ समाप्त, मुख्य आर्थिक सलाहकार ने दी इसकी पूरी इफॉर्मेंशन

 

नमस्कार भारत सकल घरेलू उत्पाद (GDP) पिछले 40 साल निचली स्तर गिर गई है। जिसके बाद से ही विपक्ष हमलावर हो गई थी। आपको बता दे कि Shashiblog.in मई के महीने में ही बता दिया था। कि (GDP) में भारी गिरावत होगी जो बिल्कुल सच हुई। इसके पिछे वजह हम ने आपको  हमारे पिछले लेख बता दिया था। 

covid 19 india : मेरे दृष्टिकोण जानिए कैसे आपदा काल भारत अवसर में बदल सकता है ...

लेकिन वर्तमान वित्त वर्ष 2020-21 की अप्रैल-जून तिमाही में भारत की जीडीपी (GDP) में 40 साल की सबसे बड़ी गिरावट देखने के बाद भारत के आर्थ‍िक सलाहकार (Chief Economic Adviser) कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यन (Krishnamurthy Subramanian) ने भारतीय अर्थव्यवस्था को लेकर CNBC आवाज़ के साथ बातचीत में कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था का सबसे बुरा दौर गुजर चुका है। उन्होंने के कहा कि अगस्त के दौरान कई सेक्टर्स में कारोबार बढ़ने के संकेत मिले है।उन्होंने कहा इस बात का संकेत है कि स्थिति पहले जैसी होने की दिशा में आगे बढ़ रही है। मुख्य आर्थिक सलाहकार ने कहा, इन सभी संकेतों को देखते हुए साफ है कि स्थिति में सुधार हो रहा है और सबसे बुरा दौर गुजर चुका है। मैं ये बात डेटा के हिसाब से कह रहा हूं, ये मेरा ओपिनियन नहीं है।

Krishnamurthy Subramanian





अगस्त 2020 का लेवल पिछले साल अगस्त के बराबर रहा है। कई सेक्टर्स अप्रैल से बेहतर हो रहे हैं. उन्होंने बताया कि कोयला, तेल, गैस, रिफाइनरी प्रोडक्ट, उर्वरक, स्टील, सीमेंट और बिजली के प्रोडक्शन में तेजी आई है।उसमें अप्रैल में रिकॉर्ड 38.1 प्रतिशत तक गिरावट देखी गई थी। परंतु अब धीरे-धीरे हालात सुधर रहे हैं। यह मई में -23.4 फीसदी रहा  सुधार की दिशा में यह -15 फीसदी जून में और जुलाई में -12.9 फीसदी पर आ गया।

मुख्य आर्थ‍िक सलाहकार ने कहा कि हम एक ऐसी घटना से गुजर रहे हैं जो 150 साल में एक बार घटित हो रही है। लेकिन अर्थव्यवस्था (Economy) में इतने बुरे हालात कोरोना वायरस की वजह से से पैदा हुए है।  लेकिन अब इस स्थिति से उबरने के रास्ते पर है। उन्होंने कहा ये भी ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि रिकवरी स्पष्ट रूप से हो रही है।मुख्य आर्थ‍िक सलाहकार ने कहा कि अनिश्चितता में (GDP ) के सटीक आंकड़े देना बहुत कठिन है। लेकिन इस बात का पहले से अंदाजा था कि जीडीपी ग्रोथ में गिरावट आएगी। अब इस बात की उम्मीद लग रही है कि अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में जीडीपी ग्रोथ में गिरावट की स्थान तेजी आ सकती है।

कुछ वामपंथी पत्रकार Economy गिरने
नकारात्मक पत्रकारिता कर रहे है , देश बर्बाद हो चुका  है। वास्तविकता ये है कि सिर्फ भारत का ही कई विकसित देशो की भी GDP में गिरावत हुई। आप सभी नकारात्मक सोच रखने वाले वामपंथी पत्रकारो सावधान रहे। वामपंथी पत्रकारो हमेशा ही प्रधानमंत्री मोदी से नफरत रहा है , इसी लिए वो लगातार ही अफवाह फैलाने लगे इस गैंग नकारात्मक एजेंडो से सावधान रहे। अपने सकारात्मक सोच कोरोना को हराए और देश को आगे बढ़ाने अपना योगदान दीजिए ।


दोस्तों आपको ये लेख कैसा लगा हमे कामेंट जरूर बताईए और पंसद आए तो मित्रो साझा शेयर करे साथ में latest information पाने के हमारे साइट को बिल्कुल ही नि: शुल्क subscribe कर ले.

No comments