Breaking News

covid-19 pandemic: स्टडी में खुलासा, देश में आधिकारिक आंकड़ों से अधिक हो सकते हैं कोरोना मरीज संख्या ...

 


नमस्कार दोस्तों भारत कोरोना वायरस (covid-19)  आधिकारिक आंकड़ों से ज्यादा हो सकते हैं , ये एक स्टडी में खुलासा हुआ कि आधिकारिक तौर दिए गये आंकड़े गलत है।  

covid-19 pandemic



आपको बता दे कि दिल्ली में हाल ही में हुई एंटीबॉडी स्टडी के बाद अनुमान लगाया जा रहा है कि शहर 2 करोड़ लोगों में से एक चौथाई लोगों ने बिना लक्षण के कोरोना वायरस से पॉजिटिव हुए हो सकते हैं। गुरुवार को जारी एक स्टडी रिपोर्ट ने संकेत दिया है कि भारत के आधिकारिक मामलों के आंकड़ों और कोरोना से पॉजिटिव के आंकड़ों में अंतर हो सकता है।

एक्सट्रपॉलिटेड की 15,000 दिल्ली के लोगों पर एंटीबॉडी स्टडी से सामने आया कि राजधानी में 5.8 मिलियन लोग वायरस को पॉजिटिव हुए हो सकते हैं जो कि आधिकारिक 1, 56,139 पॉजिटिव के मामलों से 37 गुना अधिक हैं।



 जैसा कि आप जानते हैं कि भारत पहले से ही आधिकारिक तौर पर अमेरिका और ब्राजील के बाद 2.84 मिलियन मामलों के साथ तीसरे नंबर है। 


दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन बयान

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने गुरुवार को कहा कि इस महीने की शुरुआत में किए गए 15,000 लोगों के ब्लड टेस्ट में पाया गया कि उनमें 29.1 प्रतिशत में वायरस एंटीबॉडीज थे। वैज्ञानिकों का कहना है कि एंटीबॉडी टेस्ट को सावधानी के साथ किया जाना चाहिए, क्योंकि नई इनफॉर्मेशन के मुताबिक वे अन्य को भी पॉजिटिव कर सकते हैं। जून-जुलाई में इसी तरह के एक सर्वे में कहा गया था कि परीक्षण किए गए 23 प्रतिशत लोग दिल्ली में पॉजिटिव थे। अन्य शहरों में हुए भी यह पाया गया था आधिकारिक संख्या से अधिक लोग पॉजिटिव हो सकते हैं।  


 पुणे में हुए एक सर्वे में 51.5 प्रतिशत रिस्पोंडेट्स में एंटीबॉडी थे।जुलाई के अंत में मुंबई के स्लम एरिया हुए सर्वे में शामिल 57 प्रतिशत लोगों को पॉजिटिव था। जो कि आधिकारिक आंकड़ों से कहीं अधिक था।

इसी सप्ताह एक अन्य सर्वे में हैदराबाद में सीवेज के पानी का टेस्ट किया गया। अनुमान लगाया गया कि 9 मिलियन से अधिक आबादी वाले इस शहर का कोई 6.6 प्रतिशत लोग पॉजिटिव हो गए हैं। यह संख्या भी आधिकारिक आंकड़ों से अधिक है।


इसी सप्ताह एक अन्य सर्वे में हैदराबाद में सीवेज के पानी का टेस्ट किया गया। उसमें अनुमान लगाया गया कि 9 मिलियन से अधिक आबादी वाले इस शहर का कोई 6.6 प्रतिशत लोग संक्रमित हो गए हैं। यह संख्या भी आधिकारिक आंकड़ों से बहुत ही ज्यादा है।


दोस्तों आपको बता दे कि ऐसी अनुमान जताया जा रहा है कि कोरोना मरीजो की संख्या पुरे देश छुपाया जा रहा है , यानी वास्तविकता में कोरोना वायरस पॉजिटिव मरीजो आधिकारिक आंकड़े कही अधिक है।

दोस्तों आपको ये लेख कैसा लगा हमे कामेंट जरूर बताईए और पंसद आए तो मित्रो साझा शेयर करे साथ में latest information पाने के हमारे साइट को बिल्कुल ही नि: शुल्क subscribe कर ले.

No comments