Breaking News

Rafale in India Live Updates: भारत आ गया राफेल , जानिए राफेल जुड़े खास जानकारी , और जानिए क्यों राफेल नाम से डरता है चीन और पाकिस्तान ....



नमस्कार दोस्तों जिस राफेल लड़ाकू विमानों का कई सालों से बेसब्री से इंतजार था। वो पल अब आ ही गया राफेल अब से कुछ देर पहले ही अंबाला एयरबेस पर पहुंच गई है। ये फाइटर जेट्स सोमवार के फ्रांस के मेरिग्नैक बेस से रवाना हुए और करीब सात हजार km का सफर तय करने उपरांत भारत पहुँची।
Rafale in India Live Updates

राफेल की कुछ खास बाते हम आपको बताने जा रहे है।

(1) अधिकतम स्पीड 2,130 किमी/घंटा और 3700 किमी. तक मारक क्षमता
(2)150 किमी की बियोंड विज़ुअल रेंज मिसाइल, हवा से जमीन पर मार वाली स्कैल्प मिसाइल
(3) 24,500 किलो उठाकर ले जाने में सक्षम और 60 घंटे अतिरिक्त उड़ान की गारंटी

(4) यह दो इंजन वाला लड़ाकू विमान है, जो भारतीय वायुसेना की पहली पसंद है, हर तरह के मिशन में भेजा जा सकता।


(5)अत्याधुनिक हथियारों से लैस होगा राफेल, प्लेन के साथ मेटेअर मिसाइल भी है
(6.) स्कैल्प मिसाइल की रेंज 300 किमी, हथियारों के स्टोरेज के लिए 6 महीने की गारंटी

(7) 75% विमान हमेशा ऑपरेशन के लिए तैयार हैं, परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम है।

(8) 1 मिनट में 60,000 फ़ुट की ऊंचाई और 4.5 जेनरेशन के ट्विन इंजन से लैस।

(9) जानकारी के मुताबिक, राफेल बनाने वाली कंपनी से भारत ने ये भी सुनिश्चित कराया है कि एक समय में 75 प्रतिशत प्लेन हमेशा ऑपरेशनली-रेडी रहने चाहिए. इसके अलावा भारतीय जलवायु और लेह-लद्दाख जैसे इलाकों के लिए खास तरह के उपकरण लगाए गए है।

(10) राफेल प्लेन में एक और खासयित ये है कि इसके पायलट के हेलमेट में ही फाइटर प्लेन का पूरा डिस्प्ले सिस्टम होगा. यानी उसे प्लेन के कॉकपिट में लगे सिस्टम को देखने की जरूरत भी नहीं पड़ेगी। उसका पूरा कॉकपिट का डिस्प्ले हेलमेट में होगा।


(11) साथ ही राफेल 24 घंटे में पांच बार उड़ने की क्षमता रखता है। जबकि सुखोई सिर्फ तीन (03) उड़ान भर सकता है। राफेल का फ्लाइट रेडियस करीब 780-1050 km है।
ये थी राफेल जुड़ी कुछ खास बाते हम आपको बताने जा रहे है राफेल से क्यों डरता है हमारे पड़ोसी देश चीन व पाकिस्तान
दोस्तों आपको बता दे कि भारत के राफेल के मुकाबले का चीन व पाकिस्तान के पास कोई विमान नहीं है। राफेल ने कई मोर्चों पर खुद की श्रेष्ठता साबित की है, जबकि अभी तक चीन के विमानों का किसी भी मुकाबले में परीक्षण नहीं हुआ है।

आईए जानते हैं चीन के J-20 और पाकिस्तान के F-16 के मुकाबले राफेल की ताकत?




राफेल विमान 

  • हवा से हवा और हवा से जमीन पर मिसाइल से वार करने के साथ परमाणु हमले में सक्षम 
  • 2 इंजन वाला विमान, 15 मीटर है ऊंचाई 
  • 02 पायलट के लिए क्रू में जगह 
  • 2001 से फ्रांस की वायुसेना और जल सेना का हिस्सा है राफेल 
  • 50,000 फीट की ऊंचाई तक उड़ान भर सकता है। 
  • 1912 किलोमीटर प्रतिघंटा अधिकतम रफ्तार (ज्यादा ऊंचाई पर)
  • 2500 राउंड फायरिंग क्षमता, 125 राउंड निकाल सकता है एक बार में 
  • 9071 किलोग्राम है खाली वजन, 8164 किलो वजन उठाने में सक्षम


F-16 पाकिस्तान के पास



  • हवा से हवा और हवा से जमीन पर हमला करने में सक्षम 
  • 01 इंजन वाला लड़ाकू विमान 
  • 01 पायलट क्रू में होगा  
  • 500 राउंड फायरिंग की क्षमता 20 एमएम की मल्टीबैरल कैनन से
  • 6 एयर-टू-एयर मिसाइल एक साथ दागने की क्षमता
  • 50,000 फीट तक ऊंची उड़ान भर सकता है
  • 2400 किलोमीटर प्रति घंटा गति 
  • 3200 किलोमीटर रेंज 

  • 9. 76 एफ-16 लड़ाकू विमान हैं पाकिस्तान के पास


J 20 चीन 

  • हवा से हवा में मार करने के साथ हवा से जमीन पर मार करने में सक्षम
  • अत्याधुनिक पांचवी पीढ़ी का लड़ाकू विमान 
  • अमेरिकी एफ 22 और एफ 35 के समकक्ष है
  • 02 इंजन वाला है विमान 
  • 01 पायलट वाला विमान 
  • 2100 किलोमीटर प्रति घंटे है रफ्तार 
  • 60,000 फीट अधिकतम ऊंचाई तक उड़ान भर सकता है। 
  • 20 मीटर है लंबाई, 13 मीटर चौड़ाई। 
  • 16 जे20 लड़ाकू विमान तैयार कर चुका है चीन
  • दोस्तों आप भी समझ गये हमारे देशो को राफेल से डर क्यों लगता है , अब एशिया में भारतीय वायू सेना का मुकाबला करने वाले कोई देश नही है।



आपको बता दे कि राफेल को रिसीव करने के लिए खुद वायुसेना अध्यक्ष एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया मौजूद रहे। 

राफेल पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने संस्कृत में ट्वीट कर कहा ?
Rafale in India Live Updates

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संस्कृत में ट्वीट कर कहा राष्ट्ररक्षासमं पुण्यं, राष्ट्ररक्षासमं व्रतम्, राष्ट्ररक्षासमं यज्ञो, दृष्टो नैव च नैव च.. नभः स्पृशं दीप्तम्...स्वागतम्!'' यानि राष्ट्र रक्षा से बढ़कर न कोई पुण्य है, न कोई व्रत है, न कोई यज्ञ है।



राजनाथ सिंह ने ट्वीट करके कहा कि राफेल लड़ाकू विमानों का भारत पहुंचना हमारे सैन्य इतिहास के नये अध्याय की आरंभ है। ये बहुद्देशीय विमान भारतीय वायुसेना की क्षमता में अभूतपूर्व वृद्धि करेंगे।

दोस्तों आपको ये लेख कैसा लगा हमे कामेंट जरूर बताईए और पंसद आए तो मित्रो साझा शेयर करे साथ में latest information पाने के हमारे साइट को बिल्कुल ही नि: शुल्क subscribe कर ले.


No comments