Breaking News

rishi kapoor ranbir kapoor relationship:अपने पापा से अच्छे नहीं थे Ranbir के रिश्ते, घर छोड़कर जाने से टूट गया था दिल


नमस्कार दोस्तों आप सभी स्वागत है हमारे ब्लॉग पर, आप अभी पढ़ रहें है shashiblog.in आज के आर्टिकल में अपने पापा से अच्छे नहीं थे Ranbir के रिश्ते जाने वजह?
rishi kapoor ranbir kapoor relationship


 

Rishi Kapoor  के असमय निधन से Ranbir Kapoor की एक बड़ी तमन्ना अधूरी रह गई । Ranbir Kapoor का अपने father  Rishi Kapoor से बहुत ही अच्छा रिश्ता नहीं रहा था।


Ranbir को इस बात का सदैव दुख रहेंगा
वह अपने पिता के साथ वैसा रिश्ता (relation)
नहीं रहा जैसा कि ऋषि कपूर(Rishi Kapoor)का राज कपूर (Raj Kapoor)के साथ था। रणवीर कपूर 
(Ranbir Kapoor) ने तीन वर्षा पहले एक तमन्ना
जाहिर की थी। जब मेरी विवाह होगी, मेरे बच्चे होंगे तो मैं रिश्ते के इस समीकरण को बदलना चाहूंगा। मैं नहीं चाहता कि मेरा अपने बच्चों के साथ वैसा रिश्ता रहे जैसा कि मेरा पापा के साथ रहा था। मैं अपने बच्चों से मित्रतापूर्ण और घनिष्ठ संबंध रखूंगा। रणवीर कपूर अपने पिता को ये दिन नहीं दिखा सके। उनकी विवाह के पहले ही ऋषि कपूर ने इस दुनिया को छोड़ के चले।

Ranbir Kapoor -Rishi Kapoor रिश्ता  दूरियां के वजह

January  2017 में Rishi Kapoor की जीवनी(Biography) प्रकाशित हुई थी जिसका नाम है- खुल्लम खुल्ला : ऋषि कपूर(Rishi Kapoor) दिल से इस पुस्तक का प्राक्कथन रणवीर कपूर (Ranbir Kapoor) ने लिखा है। इस प्राक्कथन में रणवीर ने स्पष्ट किया है कि उनका अपने पिता से अच्छा रिश्ता (relation) नहीं रहा। रणवीर(Ranbir Kapoor) ने लिखा है- काश हमारे बीच और घनिष्ठता और मित्रता होती, या मैं उनके साथ और समय बिता पाता। कभी-कभी मेरे दिल में विचार आता है कि काश मैं भी कभी यूं ही फोन उठाता और उनसे पूछ पाता कि वे कैसे हैं। पर हमारे बीच ऐसा नहीं है। हमारे बीच फोन (Phone) पर बात नहीं होती। हां वे मुझे संदेश जरूर भेजते हैं। वे मेरा आर्थिक पक्ष संभालते हैं और हम इस प्रकार एक दूसरे से जुड़े रहते हैं। इसी प्राक्कथन में रणवीर ने अपने होने वाले बच्चों के साथ अच्छे रिश्ते की तमन्ना की है। रणवीर, ऋषि कपूर को दिखाना चाहते थे कि कैसे कोई पिता अपने बच्चों के साथ मित्रवत हो सकता है। उन्होंने आज से तीन साल पहले लिखा था- जहां तक मेरे पिता से व्यक्तिगत रिश्ते का सवाल है तो यह मेरे लिए पूरी तरह आदरणीय है लेकिन मैं अपनी मां के अधिक नजदीक हूं।



बाप- बेटा में क्या थी कलह की कारण



ऋषि कपूर(Rishi Kapoor) ने 2015 में दिये एक
Interview कहा कि वे पहले बहुत गुस्सैल और घमंडी थे। ये भी कहा  कि ऋषि कपूर की रोजमर्रा की नसीहतों से रणवीर परेशान हो गये थे। पिता के तानों और डांट से रणवीर उनसे दूर होने लगे और अपनी मां नीतू कपूर के नजदीक जाने लगे। ऋषि कपूर (Rishi Kapoor) ने बाद में इस बात को स्वीकार किया था कि उन्होंने खुद ही अपने बेटे के साथ रिश्ते को बिगड़ा लिया था। नीतू के समझाने के पश्चात भी मैं नहीं संभला। जब तक बात समझ में आयी तब तक बहुत
विलंब हो चुकी थी। रणवीर (Ranbir Kapoor)  पहले ऋषि कपूर (Rishi Kapoor) के साथ ही एक घऱ में रहते थे। मुम्बई के पाली हिल्स के बंगले में। दोनों कुछ असहमियों के बावजूद एक साथ रह रहे थे। लेकिन 2015 में रणवीर ने अपने पिता का घर छोड़ दिया और अलग रहने लगे। रणवीर के इस निर्णय से ऋषि कपूर बहुत ज्यादा नाराज हो गये। इस घटना ने बाप-बेटे की दूरियों और बढ़ा दिया। उस वक्त रणवीर ने कैटरिना कैफ के साथ अलग फ्लैट में रहने का निर्णय लिया था। तब इस बात की चर्चा थी कि ऋषि और नीतू कपूर रणवीर- कैटरीना के रिश्ते के पक्ष में नहीं थे। उपरांत में जब रणवीर का कैटरिना से अलगाव हुआ तो इसके लिए नीतू कपूर को जिम्मेवार ठहराया गया था।


जब ऋषि कपूर को आया था गुस्सा

एक बार रणवीर कपूर ने एक Interview में अपने पिता ऋषि कपूर के गुस्से के बारे में कहा कि ये वाकया तब का है जब रणवीर 12 साल के थे। घर में पूजा थी। उसकी तैयारियां चल रही थीं। रणवीर अचानक जूता पहन कर ही पूजास्थल पर चले गये। इतना देख कर ऋषि कपूर आपे से बाहर हो गये और रणवीर को एक जोरदार तमाचा जड़ दिया। तब रणवीर को ये बात मालूम नहीं थी कि पूजास्थल पर जूता पहन कर जाना माना है। परंतु इतना कुछ होने के बाद भी रणवीर ने सदैव अपने पिता को सम्मान दिया। वैचारिक मतभेद जरूर थी। परंतु वो अपने पिता और कपूर खानदान पर सदैव गर्व रहा है। पश्चात
 में ऋषि कपूर (Rishi Kapoor) को भी अपनी गलती एहसास हुआ और वे रणवीर के प्रति नरम हो गये। 2018 में जब रणवीर को पहली बार मालूम चला कि उनके पिता को कैंसर है, तो वे रोने लगे थे। वे अपने पिता को इलाज के लिए दिल्ली लाये फिर वहां से न्यूयॉर्क ले गये थे।

No comments