Breaking News

durga puja 2020: shardiya navratri date navratri kab hai , और जानें क्या होते है इसके इस बार मां की सवारी क्या रहेगी इसके महत्त्व


नमस्कार दोस्तों आप सभी स्वागत है हमारे ब्लॉग पर, आप अभी पढ़ रहें है shashiblog.in आज के आर्टिकल में बताएंगे shardiya navratri kab hai इस बार मां की सवारी क्या रहेगी, और जानें क्या होते है इसके महत्त्व 2020 में, शारदीय नवरात्रि( shardiya navratri )शनिवार, 17 अक्टूबर से शुरू होने वाला है हिंदू धर्म के लोगों के लिए पूजा-अर्चना के विशिष्ट होते हैं इन दिनों मां दुर्गा के विभिन्न स्वरूपों की आराधना की जाती है।
shardiya navratri 2020

जाने आगमन और विदाई 


माता की सवारी घोड़े पर नवरात्रि में माता वाहन हमेशा बदलती रहती है आपको बता दें कि इस बार वाराणसी पंचांग और मिथिला पंचांग के मुताबिक माता का आगमन उसके मुताबिक वर्ष में होने वाली घटनाओं का भी आकलन किया जाता है। इस वर्ष कलश स्थापना 17 अक्टूबर यानी शनिवार के दिन है। इसलिए इस वर्ष माता घोड़े पर सवार होकर आ रही हैं। घोड़ा युद्ध का प्रतीक माना जाता है। देवी दुर्गा की विदाई इस बार सोमवार के दिन  है तो माता भैंसे की सवारी कर वापस जाएगी । यह राष्ट्र के लिए अशुभ संकेत है।



कलश स्थापना की विधि, शुभ मुहूर्त


इस साल 2020 को shardiya नवरात्रि का प्रारम्भ
 17 अक्टूबर , आश्चिन शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि से  आरंभ होगा। Durga Puja का आरंभ घट स्थापना से शुरू हो जाता है. घट स्थापना मुहूर्त का समय शनिवार, अक्टूबर 17, 2020 को प्रात:काल 06:27 से 10:13 तक है. घटस्थापना के लिए अभिजित मुहूर्त प्रात:काल 11:44 से 12:29 तक रहेगा।जिस वजह कलश स्थापना का लंबा समय मिलेगा यानी नवरात्रि के पहले दिन कभी भी कलश स्थापना की जा सकती लेकिन कलश स्थापना के लिए प्रातः काल का समय सबसे उचित रहेगा।वही 26 अक्टूबर को विजयदशमी है इसी दिन नवरात्र पूजन का समापन हो जाएगा 





durga puja 2020 navratri date

शारदीय नवरात्र Navratri की तिथियां :



  • 17 अक्टूबर (शनिवार) प्रतिपदाघट स्थापन एव
  • माँ शैलपुत्री पूजा
  • 18 अक्टूबर (रविवार) द्वितीयामाँ ब्रह्मचारिणी पूजा
  • 19 अक्टूबर (सोमवार) तृतीयामाँ चंद्रघंटा
  •  पूजा20 अक्टूबर (मंगलवार)

  •  चतुर्थीमाँ कुष्मांडा पूजा21 अक्टूबर (बुधवार) पंचमीमाँ स्कंदमाता पूजा

  • 22 अक्टूबर (बृहस्पतिवार) षष्टीमाँ कात्यायनी पूजा, सरस्वती आह्वाहन23

  •  अक्टूबर (शुक्रवार) सप्तमीकालरात्रि पूजा,

  •  सरस्वती पूजा24 अक्टूबर (शनिवार) अष्टमीमाँ महागौरी पूजा, दुर्गा अष्टमी,

  •  महा नवमी25 अक्टूबर (रविवार) नवमीनवरात्री पारण, 

  • विजय दशमी26 अक्टूबर (सोमवार) दशमीदुर्गा विसर्जन

No comments