1 साल बाद सुलझा सुशांत का केस.sushant singh rajput 1st death anniversary. sushant singh rajput news

 

Sushant Singh Rajput (सुशांत सिंह राजपूत) छोटे शहर से निकला हुआ एक सितारा जिसने साबित किया। शहर छोट होते सपने नहीं। जिस ने इस धारणा को सदा के लिए समाप्त कर दिया कि बॉलीवुड में बिना God father के कामयाबी नहीं मिल सकती है। जिस ने बताया कि Bollywood में बिना God father सफलता के चरम पहुँच सकते है। ये सुशांत साबित किया है।

sushant singh rajput 1st death anniversary

धोनी फिल्मे सुशांत का चेहरा फिट बैठा छोटे शहर के महान किक्रेटर भारतीय क्रिकेट टीम के विश्वविजयी कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के जीवन पर फिल्म बनी थी तो सुशांत सिंह राजपूत के रूप परदे पर धोनी का चेहरा बनाया गया था। चेहरा फिट बैठा था और फिल्म हिट हुई थी।इतिहास में अब जब तक महेंद्र सिंह धोनी का नाम रहेगा, परदे पर सुशांत सिंह राजपूत भी उनके चेहरे के प्रतिनिधि के रूप में जीवित रहेंगे।

14 जुन 2020 जब सुशांत छोड़ कर इस दुनिया को

अब हम आपको सुशांत जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बाते बताते है। 

 आज 14 जुन है ये वो  तारीख जब Sushant Singh Rajput (सुशांत सिंह राजपूत) इस दुनिया छोड़कर चले गये थे। Sushant Singh Rajput (सुशांत सिंह राजपूत) के मौत एक रहस्य बन रह गई। मुंबई पुलिस कहती है कि Sushant Singh Rajput (सुशांत सिंह राजपूत) ने कथित तौर पर आत्महत्या की है। जबकि Sushant Singh Rajput (सुशांत सिंह राजपूत) फैन , उनके करीबी दोस्त और रिश्तेदार ये कहते है कि सुशांत की हत्या हुई।  Sushant Singh Rajput (सुशांत सिंह राजपूत) की मौत एक ऐसी पहेली बन गई है। जिसे देश के सबसे बड़े जांच एजेंसियां सुलझाने में कामयाब नहीं हो पाई है। केंद्र सरकार की तीन-तीन एजेंसियां लगी हुई हैं- सीबीआई, ईडी और एनसीबी। लेकिन एक साल बीत चुका है परंतु आजतक मालूम नहीं पड़ा  है।  आत्महत्या थी या हत्या? 

सुशांत सिंह राजपुत जुड़े सबसे बड़े सवाल 

पुलिस को इतनी जल्दबाजी है कि इस पहलू पर थोड़ा भी गौर नहीं किया गया। पुलिस ने जांच में सुशांत मौत से जुड़े कई अहम सबूतों और आधारों को नजरअंदाज किया। और रहस्यमयी मौत पर अविलंब आत्महत्या की मुहर लगाने की कोशिश शुरू हो गई। मौत को आत्महत्या करार देने की जल्दबाजी होने लगी। सुशांत के मौत को आत्महत्या साबित करने की जल्दबाजी सिर्फ अस्पताल की पोस्टमार्टम रिपोर्ट और पुलिस की सच्चाई तक सीमित नहीं थी। बल्कि सियासत में भी कुछ दिग्गजों ने उसकी मौत को आत्महत्या बताने की जल्दबाजी दिखाई।

आज हम उन चेहरे को बेनकाब करेंगे। 

शिवसेना नेता Sanjay Raut (संजय राउत) ने सुशांत पिता तक को सवालो के घेरे में ला कर रख दिया। हम आगे जो बताने जा रहे है। वो उस समय  शिवसेना के मुखपत्र छपी थी। जिसमें “सामना” ने जांच पर सवाल उठाते हुए इस मामले को जल्द आत्महत्या घोषित करने की सलाह दी थी।सुशांत पर शिवसेना के एक नेता ने लिखा था कि “सुशांत के कम से कम 10 अभिनेत्रियों के साथ संबधों का खुलासा हुआ। कई लड़कियों से उसका ब्रेकअप भी हुआ था। जिसके बाद नाकामी से निराश होकर वो अत्यहत्या  कर लेता है। इस थ्योरी कोई दम नहीं दिखता है। शिवसेना सुशांत सिंह राजपुत पर निजी हमले तक नहीं रूकी बल्कि कि इतना भी कह दिया था कि मौत की मार्केटिंग हो रही है। आखिर सबसे बड़ा सवाल 

उस वक्त के हालात देखकर ऐसा लगने लगा कि उसकी मौत का फायदा उठाने की होड़ मची हुई थी।  क्या उसकी मौत की मार्केटिंग की गई? सुशांत की छवि को देखकर ये मानना आज भी कठिन लगता है कि वो आत्महत्या करने के बारे में सोच भी सकता होगा.., लेकिन इस दुनिया ने उसकी मौत के रहस्य से पर्दा उठाने के बजाय मौत पर आत्महत्या का ठप्पा लगाने की इतनी जल्दबाजी दिखाने लगे। 

लोग कहते हैं कि सुशांत की डेड बॉडी पंखे से लटकी मिली थी। लेकिन किसी ने भी सुशांत की डेड बॉडी को लटका हुआ नहीं देखा था। उसकी लाश को पंखे से किसने उतारा ये भी नहीं बताया गया। 

 पुलिस को इतनी जल्दबाजी है कि इस पहलू पर थोड़ा भी गौर नहीं किया गया। पुलिस की जांच में सुशांत मौत से जुड़े कई अहम सबूतों और आधारों को नजरअंदाज किया गया था।  सबसे बड़ा प्रश्न तो यही उठाया जा रहा है। क्या पुलिस ऐसा शिवसेना और बॉलीवुड माफिया के डर से किया था।

क्यों सुशांत मौत का रहस्य कभी सामने नहीं आया गा 

सुशांत सिंह राजपूत के मौत के रहस्य पर शिवसेना खुले तौर पर पर्दा डालने की कोशिश कर रही है। बल्कि कि शिवसेना ऐसा अपने मुखपत्र सामना कहा था कि सुशांत मौत रहस्य कभी सामने नहीं आया गा। ऐसा हम यूं ही नहीं कह रहे हैं। शिवसेना के मुखपत्र सामना ने इस बात के सबूत दिए हैं।कि सुशांत की मौत की मिस्ट्री को सुलझते हुए वो नहीं देख पाएगे। सबसे बड़ा प्रश्न यही है कि शिवसेना के अखबार कैसे मालूम है कि सुशांत की मौत की मिस्ट्री दुनिया सामने कभी नहीं आएगी।  

अनसुनी कहानी 

आज हम सुशांत जुड़ी एक ऐसी कहानी बताने जा रहे है। जो शायद आपको मालूम नहीं हो।फिल्म जगत के उभरते सितारे सुशांत सिंह राजपूत अब इस दुनिया में नहीं हैं, लेकिन उनकी अदाकारी, उनसे जुड़ी तमाम यादें उनके चाहने वालों के ज़हन में आज भी ज़िंदा हैं। सुशांत के निधन के एक साल हो चुका है।सुशांत का इस तरह अचानक दुनिया से चले जाना हर किसी के लिए एक बड़ा झटका था। जिससे ऊभरने में ही लोगों को कई महीने लग गए। उनके करीबियों की मानें तो सुशांत असल ज़िंदगी में तो काफी जिंदादिल थे ही, लेकिन उतने ही अच्छे वो एक्टर भी थे। क्या आप जानते हैं सुशांत एक ऐसे अभिनेता हैं जो अपने ऑडिशन में कभी फेल नहीं हुए? जी हाँ दोस्तों ये सच है। सुशांत सिंह राजपुत ऑडिशन में कभी फेल नहीं हुए।

ये थी सुशांत जुड़ी अनसुनी कहानी परंतु आज हमारा उद्देश्य सुशांत की मौत मिस्ट्री जाना। 

सुशांत सिंह एक ऐसा पोस्ट हम दिखा रहे जिसमें आत्महत्या वाले थ्योरी दम लगती है जिसमें Sushant Singh Rajput (सुशांत सिंह राजपूत)

लिखा था कि वह अपनी जिंदगी को भरपूर तरीके से जीने की भी इच्छा रखते थे। इस पोस्ट में सुशांत ने आपने शिड्यूल का जिक्र किया है। जिसमें शारीरिक से लेकर मानसिक स्वास्थ्य की भी बाते हैं। ये हम दावे नहीं करते है कि सुशांत आत्महत्या की थी।

पहला कि अगर सुशांत ने आत्महत्या की जैसा कहा जा है डेड बॉडी पंखे से लटकी हुई थी , फिर उसे पुलिस आने से पहले क्यों उतारा गया था। क्या सुशांत साथ रह रहे दोस्तों भारत के कानून बारे में मालूम नहीं था।

दुसरा सवाल यह कि सुशांत दोस्त सिद्धार्थ पिठानी  ने कहा कि वो चाबी वाला बुलाए था। जब पुरे देश में लॉकडॉउन था। उसने कहा से बुलाए क्या सिद्धार्थ पिठानी के पहले से ही अपने पास चाबी वाला का नंबर रखता था।

तीसरा सवाल है कि सुशांत ड्रग्स लेते थे। तो एक भी ऐसा चैट सुशांत सिंह राजपुत के फोन से क्यों नहीं मिली। जैसे सुशांत दोस्तों का या फिर उनकी गर्लफ्रैंड है।Rhea Chakraborty (रेहा चक्रवर्ती)फोन से मिली है।

खैर इस लेख बस इतना ही , आज आप सभी एक सवाल है कि क्या सुशांत सिंह राजपुत के मौत एक रहस्य बन रह जाएगी या फिर कभी सामने भी आएगी।   

Leave a Reply

Infinix Zero 5G Goes Official in India as the Brand’s First 5G Phone: Price, Specifications Happy Hug Day 2022: Wishes, Messages, Quotes, Images, Facebook & WhatsApp status IPL Auction 2022 Latest Updates Happy New Year Wishes 2022 Happy New Year Wishes 2022 Happy New Year 2022 Wishes Omicron Variant: अमेरिका में ओमिक्रॉन वैरिएंट का पहला मामला