सदा रहना चाहते हैं Young तो प्रत्येक दिन दूध के साथ करें इस एक चीज का उपयोग , आयुर्वेद ने बताया अमृत…

 आयुर्वेद के अनुसार दूध पौष्टिकता (Nutritiousnes) की दृष्टि से एक संपूर्ण आहार है। दूध में भरपूर मात्रा में प्रोटीन, कैल्शियम, नियासिन, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम, आयोडीन, मिनरल्स, फैट, ऊर्जा, राइबोफ्लेविन (Vitamin B-2) के अलावा विटामिन ए, डी, के और ई उपस्थित होते हैं। उसके अलावा सबसे पूजा के बीच मिश्री, प्रसाद के रूप में चढ़ाई जाती है। आइए आपको बताते हैं जुबान की मिठास बढ़ाने के साथ- साथ मन और दिमाग को भी खुश रखने वाली मिश्री और दूध (Dudh- Mishri Benefits In Hindi) के लाभ ।

Dudh- Mishri Benefits In Hindi

कई गंभीर बिमारियों का रामबाण इलाज दूध और मिश्री (Dudh- Mishri Uses) का उपयोग कई गंभीर बीमारियों के उपचार में भी प्रयोग किया जाता है। यदि दूध और मिश्री का सेवन एक साथ किया जाए तो इसके कई हेल्थ बेनेफिट्स मिलते हैं। आपको बता दें कि दूध में मिश्री एक एंटासिड एजेंट के रूप में काम करती है। उसके और भी कई लाभ हैमें अच्छी नींद के लिए एक गिलास गुनगुने दूध में मिश्री (Health Benefits Of Dudh- Mishri) मिलाकर प्रत्येक रात को सोने से पहले पीने से नींद संबंधी समस्या समाप्त होती है। और अच्छी नींद आती है।

यह मिश्रण आपके मूड को फ्रेश करने के साथ-साथ दिमाग को शांत रखने में भी सहायता करती है। मगर  आप मूड स्विंग्स से परेशां हैं तो आप इस ड्रिंक को अपने मूड सही करने के लिए भी ले सकते हैं।

विशेषतः मेनोपॉज के उपरांत होने वाले मूड स्विंग की समस्या को समाप्त करने के लिए ये ड्रिंक बहुत ही लाभदायक  है। उसके अलावा डिप्रेशन में भी ये ड्रिंक बहुत लाभदायक है। आंखों के लिए अमृत इस समय  वर्क फ्रॉम होम का कल्चर चलन में है। 

ऐसे में घंटों कंप्यूटर, लैपटॉप, टैब पर लगातार काम करने वाले लोगों के लिए आंखों (Dudh- Mishri For Eyes) का ध्यान रखना बहुत जरूरी है।उसके लिए आप प्रत्येक रात को गुनगुने दूध में मिश्री डालकर नियमित रूप से उपयोग कर सकते हैं। दूध और मिश्री दोनों ही आंखों के लिए बहुत ही लाभदायक हैं।इससे आपकी आंखें स्वस्थ रहती हैं। 

डॉक्टर भी प्रत्येक दिन इसके सेवन की सलाह देते हैं।डाइजेशन में सहायता करती है आजकल के भाग दौड़ वाली जिंदगी में पाचन कि समस्या से ज्यादातर लोग परेशान हैं। पाचन की समस्याओं (अपच, कब्ज, एसिडिटी) को दूर करने के लिए मिश्री वाले दूध का सेवन करना बहुत ही लाभदायक होता है। ये एसीडिटी को विराम है और कब्ज की समस्या दूर कर डाइजेशन को सुधारता है। अगर आप एसिडिटी की समस्या से परेशान है। तो ठंडे दूध में मिश्री मिलाकर सेवन करें। मिश्री में डाइजेस्टिव गुण होते हैं, जिसके वजह ये डाइजेशन में सहायक है। 

पुरुषों के लिए लाभकारी आयुर्वेद के अनुसार, गर्म दूध में केसर और मिश्री मिलाकर पीने से शरीर में एनर्जी (Dudh- Mishri Energy Drink) और फुर्ती आती है। यह शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा को बढ़ाने के साथ-साथ ब्लड सर्कुलेशन भी मेंटेन करती है। जिसमें स्किन में निखार आता है। इस Drink की खासियत है कि ये पुरुषों की यौन दुर्बलता (sex power) को समाप्त करने में भी बहुत लाभ करती है।टेशन से राहत दिलाती है मिश्री और दूध का मिश्रण दिमाग की क्षमता में सुधार करने में भी सक्षम है। आयुर्वेद के अनुसार रात को सोने से पहले प्रत्येक दिन गर्म दूध के साथ मिश्री मिलाकर पीने से याददाश्त तेज होता है।

 मानसिक थकान और तनाव दोनों को कम करने में भी प्रभावशाली है।पढ़ाई करने वाले बच्चों को प्रत्येक रात इस ड्रिंक का उपयोग करना चाहिए। इस ड्रिंक को ब्रेन हेल्थ इम्प्रूव करने के लिए प्राकृतिक औषधि माना जाता है।जुकाम दूर भगाने में कारगर सर्दियों का मौसम चल रहा है। 

वैसे सर्दी-खांसी की शिकायत होने पर एक गिलास गर्म दूध के साथ मिश्री को मिलाकर पीने से राहत मिल जाता है। दिन में दो बार या रात को सोने से पहले इसका उपयोग जरूर करें।आजमा कर देखिए आपको कमाल का लाभ मिलेगा। इस Drink से आपको Instant energy भी मिलती है।एनीमिया में लाभदायक भारत में एनीमिया की समस्या बहुत कॉमन है। एनीमिया से राहत दिलाने में ये ड्रिंक बहुत कारगर साबित होता है।वास्तविकता एनीमिया होने पर बॉडी में हीमोग्लोबिन की मात्रा काफी कम हो जाती है, ऐसे में इस ड्रिंक का सेवन खून में हीमोग्लोबिन की मात्रा को बढ़ाने में सहायता करता है। साथ ही यह ब्लड सर्कुलेशन की प्रक्रिया को भी बेहतर है। एनीमिया में इसे प्रत्येक दिन  सोने से पहले लें।

Leave a Reply

Infinix Zero 5G Goes Official in India as the Brand’s First 5G Phone: Price, Specifications Happy Hug Day 2022: Wishes, Messages, Quotes, Images, Facebook & WhatsApp status IPL Auction 2022 Latest Updates Happy New Year Wishes 2022 Happy New Year Wishes 2022 Happy New Year 2022 Wishes Omicron Variant: अमेरिका में ओमिक्रॉन वैरिएंट का पहला मामला