Friday, October 22, 2021
HomeTrendingड्रैगन की दादागिरी : दक्षिण चीन सागर में अमेरिकी परमाणु पनडुब्बी पर...

ड्रैगन की दादागिरी : दक्षिण चीन सागर में अमेरिकी परमाणु पनडुब्बी पर हमला, अज्ञात वस्तु से टकराई

ताइवान मुद्दे के बाद अमेरिका और चीन खुलकर आमने-सामने आ गए हैं। अमेरिकी परमाणु पनडुब्बी पर हमले के पीछे चीन का हाथ माना जा रहा है, लेकिन अमेरिका सीधे तौर पर इससे इनकार कर रहा है.

दक्षिण चीन सागर में अमेरिका और चीन के बीच तनाव बढ़ता जा रहा है। उधर, ताइवान मुद्दे को लेकर दोनों देश आक्रामक रूप से आमने-सामने आ गए हैं। इसी बीच दक्षिण चीन सागर में एक अमेरिकी परमाणु पनडुब्बी पर हमला किया गया है। हालांकि यह हमला क्या किया गया और किसने किया इसकी जानकारी अभी नहीं मिल पाई है। अमेरिकी अधिकारियों का कहना है कि पनडुब्बी किसी अज्ञात चीज से टकरा गई। इस हमले में कोई नुकसान नहीं हुआ और पनडुब्बी भी चालू हालत में रही।

पांच दिन पहले हुआ था हमला

यूएस पैसिफिक फ्लीट ने एक बयान जारी किया है कि यूएसएस कनेक्टिकट-क्लास परमाणु पनडुब्बी पर पांच दिन पहले हमला किया गया था, लेकिन परिचालन सुरक्षा बनाए रखने के लिए जानकारी को सार्वजनिक नहीं किया गया था। बयान में यह भी कहा गया है कि हमले का असली मकसद क्या था? और टक्कर किस वजह से हुई यह अभी स्पष्ट नहीं हो पाया है। इसकी जांच की जा रही है।

दो सिपाही घायल

हमले में दो जवान घायल हो गए, जबकि नौ अन्य को मामूली चोटें आई हैं। अमेरिका का कहना है कि यह हमला तब हुआ जब अमेरिकी पनडुब्बी अपने रूटीन ऑपरेशन पर थी। हमले के बाद पनडुब्बी को आगे की जांच के लिए गुआम बंदरगाह भेज दिया गया।

चीन का कानून, बिना इजाजत घुसे तो होगा हमला

चीन ने पिछले महीने ही साउथ चाइना सी के लिए नया कानून बनाया था। चीन का कहना है कि अगर कोई उसकी अनुमति के बिना उसके जलक्षेत्र में प्रवेश करता है तो उस पर सीधा हमला किया जाएगा। इस कानून के बाद अमेरिकी पनडुब्बी पर हमले को चीन की प्रतिक्रिया माना जा रहा है. हालांकि अमेरिका सीधे तौर पर इस हमले से इनकार कर रहा है।

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

Most Popular

Recent Comments

%d bloggers like this: