खुश होना! भारत में 5जी इंटरनेट की उल्टी गिनती शुरू, 6जी ज्यादा दूर नहीं

भारत में 5जी रोल आउट (5जी इंडिया) के आने का काफी समय से इंतजार कर रहे लोगों के लिए एक अच्छी खबर सामने आई है। वास्तव में, सरकारन ने खुद स्पष्ट किया है कि 5G नेटवर्क अब अपने विकास के अंतिम चरण में है और जल्द ही इसे भारत के लोगों के लिए पेश किया जाएगा। इस बात की जानकारी खुद केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने दी है। अश्विनी वैष्णव ने “इंडिया टेलीकॉम 2022” बिजनेस एक्सपो के दौरान कहा कि न सिर्फ 5जी बल्कि 6जी स्टैंडर्ड (6जी इंडिया) के विकास में देश की भागीदारी पर भी जोर दिया।

5G के साथ-साथ 6G की तैयारी


उन्होंने कहा कि भारत ने अपना स्वदेशी 4जी कोर और रेडियो नेटवर्क भी बनाया है। वहीं, 5जी नेटवर्क भी विकास के अंतिम चरण में है। इसके अलावा, देश आज 6G मानक के विकास और 6G विचार प्रक्रिया में भाग ले रहा है। इससे साफ हो गया है कि भारत में 5जी के अलावा 6जी पर भी काम हो रहा है। यह भी पढ़ें: पहले 4G नेटवर्क सुधारें, 5G-6G नहीं, हर यूजर की ये है मांग

5G सेवाएं 2023 तक उपलब्ध होंगी


इससे पहले आम बजट 2022 के दौरान निर्मला सीतारमण ने बताया था कि 2022-23 में 5जी सेवाओं को जल्द ही व्यावसायिक रूप से शुरू किया जाएगा। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में बताया कि देश की बड़ी टेलीकॉम कंपनियों को 5जी स्पेक्ट्रम के आवंटन के लिए 20-23 में नीलामी शुरू की जाएगी.

भारती एयरटेल, रिलायंस जियो और वोडाफोन आइडिया जैसी कंपनियों ने भी देश के कई हिस्सों में 5जी का ट्रायल शुरू कर दिया है। दूरसंचार विभाग (DoT) ने पहले ही Reliance Jio, Bharti Airtel, Vodafone और MTN से 5G परीक्षण अनुरोधों को मंजूरी दे दी है। DoT जल्द ही 5G स्पेक्ट्रम की कीमतें तय कर सकता है। इसके बाद सरकार सभी निजी और सरकारी दूरसंचार कंपनियों को 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी के लिए आमंत्रित करेगी। यह भी पढ़ें: 5G से विमानों को कोई खतरा नहीं, एयर इंडिया ने शुरू की उड़ानें

इतने सारे लोग 5G फोन का उपयोग कर रहे हैं


भारत में 22 फीसदी स्मार्टफोन यूजर्स 5जी रेडी हैंडसेट का इस्तेमाल कर रहे हैं। माना जा रहा है कि इससे 4जी स्पेक्ट्रम की तुलना में देश में 5जी नेटवर्क को अपनाने में तेजी आ सकती है। एरिक्सन की मोबिलिटी रिपोर्ट के मुताबिक जल्द ही 5जी यूजर्स की संख्या 1 अरब तक पहुंच जाएगी। 4जी/एलटीई को इस बेंचमार्क तक पहुंचने में करीब दो साल लग गए।

5जी स्पेक्ट्रम खरीदने के लिए


बड़ी टेक कंपनियों के साथ-साथ देश की टेलीकॉम कंपनियां भी स्पेक्ट्रम नीलामी की तैयारी कर रही हैं। आपको बता दें कि इस बार भारत में 5जी स्पेक्ट्रम की न्यूनतम कीमत भी पहले के मुकाबले कई गुना ज्यादा होने वाली है और टेलीकॉम कंपनियों को इन्हें खरीदने के लिए काफी पैसे देने होंगे। ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि Jio, Airtel और Vi ने इन स्पेक्ट्रम को खरीदने के लिए टैरिफ प्लान की दरों में बढ़ोतरी की है।

Leave a Reply

Infinix Zero 5G Goes Official in India as the Brand’s First 5G Phone: Price, Specifications Happy Hug Day 2022: Wishes, Messages, Quotes, Images, Facebook & WhatsApp status IPL Auction 2022 Latest Updates Happy New Year Wishes 2022 Happy New Year Wishes 2022 Happy New Year 2022 Wishes Omicron Variant: अमेरिका में ओमिक्रॉन वैरिएंट का पहला मामला