कानपुर में love jihad मामला में अब बहुत बड़ा खुलासा , साक्ष्य के साथ क्या लव जैहाद वास्तविकता होती या नही ..

नमस्कार दोस्तों लव जैहाद (love jihad) का मामला इन दिनो देश काफी सुर्खियो में है। कई लोग लव जैहाद वास्तविकता नही मानते है। लेकिन अब जो  खुलासे युपी एसआईटी किए , उसके बाद लव जैहाद कोई वास्तविकता पर कोई प्रश्न चिन्ह नही उठा सकता है , जी हाँ लव जैहाद वास्तविकता होती है ,  युपी के एसआईटी जांच से मालूम पड़ता है। असल में कानपुर में शहर में जबरन धर्मपरिवर्तन के कई मामले मिलने के बाद आईजी मोहित अग्रवाल ने जांच के लिए एसआईटी का गठन किया था

love jihad

जबवन धर्मांतरण में पाकिस्तानी संगठनों का हाथ

कानपुर शहर में हिंदू समुदाय की युवतियों को प्रेम संबंध में फंसाकर शादी करने के उपरांत जबरन धर्मपरिवर्तन कराने के खेल में पाकिस्तानी संगठनों का हाथ होने की बात सामने आई है। एसआईटी को मिली जानकारी के मुताबिक जबरन धर्मपरिवर्तन कराने वालों को कट्टरपंथी इस्लामिक संगठनों की ओर से फंडिंग भी की जा रही है। पाकिस्तानी संगठन दावते इस्लामी के 50 हजार से अधिक अनुयायियों के शहर में रह कर समुदाय के लोगों की मानसिकता बदलने की जानकारी मिली है। एसआईटी ने मुखबिरों को सतर्क कर उनकी हर गतिविधि पर नजर रखने के आदेश दिए हैं। टीम एक सप्ताह में अपनी रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को सौंप सकती है। एसआईटी के प्रभारी सीओ विकास पांडेय ने कहा कि सभी मामलों की जांच करने के बाद मालूम चला कि सभी आरोपियों का जुड़ाव शहर की ऐसी मस्जिदों से है। जहां पाकिस्तान कट्टरपंथी विचारधारा के संगठन दावते इस्लामी का कब्जा है। संगठन के अनुयायी शहर का हेडक्वार्टर कही जाने वाली डिप्टी पड़ाव स्थित एक मस्जिद से संगठन का संचालन कर जबरन धर्मपरिवर्तन कराने की सोच का प्रचार प्रसार करते हैं।
हेडक्वार्टर से जुड़ी करीब दो दर्जन अन्य मस्जिदों में भी दावते इस्लामी का ही हस्तक्षेप होने की जानकारी मिली। जूही लाल कॉलोनी के सभी मामलों में आरोपियों और उनके परिजनों का जुड़ाव भी एक ही मस्जिद से होने की बात सामने आने के बाद एसआईटी ने अपनी जांच का रुख इस ओर मोड़ दिया है। पूर्व में इस संगठन की जांच पड़ताल में एटीएस भी जुटी हुई थी।

देश से ही मिलता है करोड़ों रुपये का चंदा

एसआईटी प्रभारी के अनुसार इस्लामिक संगठन को देश से करोड़ों रुपयों का चंदा दिए जाने की बात सामने आई है। एसबीआई के एक खाते में यह सारा पैसा एकत्रित किया जाता है, जो जबरन धर्मपरिवर्तन कराने वालों की मदद में इस्तेमाल किया जाता है। एसआईटी शहर से इस संगठन को दिए जाने वाले चंदे का भी डाटा निकालने में जुटी है।

सोशल मीडिया पर भी एसआईटी की नजर

नोडल अधिकारी एसपी साउथ दीपक भूकर ने कहा कि दावते इस्लामी के अलावा भी कई संगठनों के विषय में information मिली है। इसके संबंध में information जुटाई जा रही है। सोशल मीडिया पर भी इन संगठनों की गतिविधि पर नजर रखी जा रही है। YouTube पर भी संगठनों के विषय में जानकारी उपलब्ध है, जिनमें चंदे के लिए खातों की भी information उपलब्ध कराई गई है। शहर की मस्जिदों में मुखबिरों को सतर्क कर दिया गया है।

इसका यही मतलब है कि  लव जैहाद वास्तविकता में होती है। दोस्तों इसी तरह पुरे देशभर लव जैहाद मामले लगातार ही सामने आ रहे है। कई मामले ऐसे होते जब लड़कियो के साथ मुस्लिम लड़के हिन्दू नाम दोस्ती करते ओर उस लड़की अश्लील विडियो बना कर ब्लैकमेल करते , बाद धर्म परिवर्तन करने दबाव  डालते है विडियो वायरल करने की धमकी देती है।अगर वो लड़की धर्म परिवर्तन कर लेती है , उस इस्तेमाल करने बाद ही उस लड़की  हत्या कर दी जाती है। अक्सर ऐसे मामले सामने आते रहते है , जिसे आप सोशल मीडिया जरिए आप देखते होगे।
हम आगे भी इस जुड़ी कई महत्वपूर्ण  information हम आपके साझा करेंगे fact जरिए बिल्कुल सही हो। क्योंकि हमारा मानना है कि इस समाज में कट्टरपंथी सोच की जगह नही है। चाहे इसके हमे कितने भी नुकसान क्यों उठाना पड़े , हम सच बता रहेंगे।

Leave a Reply

Infinix Zero 5G Goes Official in India as the Brand’s First 5G Phone: Price, Specifications Happy Hug Day 2022: Wishes, Messages, Quotes, Images, Facebook & WhatsApp status IPL Auction 2022 Latest Updates Happy New Year Wishes 2022 Happy New Year Wishes 2022 Happy New Year 2022 Wishes Omicron Variant: अमेरिका में ओमिक्रॉन वैरिएंट का पहला मामला